B pharma kya hota hai – बी फार्मा की पूरी जानकारी हिंदी में

B pharma kya hota hai : आज का हमारा ये आर्टिकल उन विद्यार्थियों के लिए है। जो 12वीं कर रहे है या 12वीं पास कर चुके है। और ‘आगे क्या करना है’ ये सोच रहे है। तो में आप को बता दूं कि हमारे होते हुए आप को परेशान होने की जरुरत नही है।

क्योकि हम आज आप को मेडिकल लाइन से जुडे ऐसे कोर्स के बारे में बताएंगे जिसके बारे में शायद ही आपको पता हो। यही नही हम इस पोस्ट के माध्यम से इस कोर्स की पूरी जानकारी आपको प्रदान करेंगे। और इससे संबंधित जॉब के बारे में भी बताएंगे।

हर विद्यार्थी चाहता है कि वह 12वी के बाद वह कोर्स करें जिसमें उसे नाम के साथ पैसा भी मिले। कुछ विद्यार्थी पहले से ही आपने भविष्य के बारे में सोच लेते है कि उन्हे आगे क्या करना है। तो कुछ विद्यार्थी 12 वी के बाद भी इसी परेशानी में रहते है कि अब आगे ऐसा क्या करे जिससे लाइफ बन जाए।

तो आज हम एक ऐसे कोर्स का नाम बताएंगे जो आप का भविष्य बनाने में आपकी मद्द करेगा। उस कोर्स का नाम बी-फार्मा है। अगर आप भी 12 के स्टूडेंट है और चिकित्सा के क्षेत्र में अपना करियर बनाने की सोच रहे है तो आप बी-फार्मा का कोर्स चूनकर अपना भविष्य बना सकते है।

कुछ स्टूडेंट 12वी के बाद बी-फार्मा का कोर्स कर तो लेते है, पर जानकारी नही होने की वजह से नौकरी की तलाश में रहते है।

इस पोस्ट में हम बी-फार्मा की पूरी जानकारी आपको देंगे और साथ ही इस फील्ड में आप कहा नौकरी कर सकते है। ये भी हम आप को बताएंगे। तो पहले बात कर लेते है बी-फार्मा क्या होता है।

 

B pharma kya hota hai | B Pharma Admission, Subject, Qualification, Fees, Salary, Collages, Job, career

 

B pharma kya hota hai | B Pharma Admission, Subject, Qualification, Fees, Salary, Collages, Job, career  

 

बी-फार्मा का फुल फॉर्म इन हिंदी | B pharma ka full form in Hindi :

बी-फार्मा एक चिकित्सा से संबंधित कोर्स है। ये फार्मेसी क्षेत्र का बैचलर कोर्स है। इसमें स्टूडेंट को दवाई गोली की जानकारी दी जाती है। यानि किस मर्ज में किस दवाई को देने से मरीज ठीक होगा, इसी बात की जानकारी दी जाती है।

आप फार्मेसी करने के लिए D Pharma, B Pharma और M Pharma कर सकते है।

  • D Pharma – D Pharma फार्मेसी में एक डिप्लोमा कोर्स है। D Pharma का फुल फॉर्म ‘डिप्लोमा इन फार्मेसीDiploma in Pharmacy है। जिसमें फार्मेसी से संबंधित विषय और मॉड्यूल शामिल हैं। और इस कोर्स की अवधि 2 वर्ष होती है, जिसमें 4 सेमेस्टर होते हैं।
  • B Pharma – यह फार्मेसी का एक बैचलर डिग्री कोर्स है। B Pharma का फुल फॉर्म Bachelor of Pharmacy है। जो कि 12वी के बाद हम कर सकते है।

इसमें स्टूडेंट को दवाईयो की पूरी जानकारी दी जाती है। चिकित्सा के क्षेत्र में भविष्य बनाने के लिए B Pharma एक अच्छा विकल्प है।

  • M Pharma – M Pharma कोर्स B Pharma के बाद किया जाता है। क्योकि B Pharma कोर्स का मतलब Bachelor of Pharmacy है। जो कि एक बैचलर डिग्री कोर्स है और जबकि M Pharma एक मास्टर कोर्स है जो बैचलर के बाद किया जाता है। और M Pharma का फुल फॉर्म Master of Pharmacy होता है।

लोकिन आज हम यहां B pharma की बात कर रहे है। जो कि 12वी के बाद किया जाने वाला कोर्स है।

 

बी-फार्मा मीनिंग इन हिंदी | B pharma meaning in Hindi :

B Pharma या Bachelor of Pharmacy को हिंदी में क्या कहते है। क्योकि ये एक बैचलर कोर्स है, इस लिए Bachelor of Pharmacy को हिंदी में फार्मेसी स्नातक कहते है।

यह कोर्स 4 साल का होता है। इसमें 8 सेमस्टर होते है। 12वी के बाद आप B Pharma कर सकते हो। इस कोर्स में स्टूडेंट को ये सिखाया जाता है की दवाई कैसे बनाते है साथ ही दवाई बनाने की पूरी प्रक्रिया बताई जाती है।

किस बीमारी में किस दवा का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। और कब किस दवा का उपयोग कैसे करना चाहिए, आदि चीजों के बारे में सिखाया जाता है।

साथ ही यहां स्टूडेंट को सिखाया जाता है कि कौन कौन सा टेस्ट कराना चाहिए। ये सभी B Pharma के स्टूडेंट कोर्स के दौरान सिखाया जाता है।

आप भी अगर मेडिकल लाइन में अपना करियर बनाना चाहते है तो आप भी इस कोर्स को कर सकते है।

 

बी-फार्मा के सब्जेक्ट | B pharma k subject :

बी-फार्मा के सब्जेक्ट की बात करे तो इसके हर सेमेस्टर में सेम सब्जेक्ट होते है। और इन्ही सब्जेक्ट से थ्योरी और प्रैक्टिकल किए जाते है।

  • Human Anatomy and Physiology
  • Pharmaceutical Organic Chemistry
  • Biochemistry
  • Pathophysiology
  • Computer Applications in Pharmacy
  • Environmental sciences

 

बी-फार्मा की फीस कितनी है | B pharma ki fees kitni hai :

B Pharma कोर्स को आप गवर्नमेंट या प्राइवेट किसी भी कॉलेज से कर सकते है। गवरमेंट सरकारी संस्था होती है जिसकी फीस देना आसान होता है,

जबकि प्राइवेट सरकारी संस्था नही है और इसकी फीस भी कही अधिक होती है। लेकिन प्राइवेट के मुकाबले गवरमेंट B Pharma को अधिक मान्यता दी जाती है।

B Pharma कोर्स की फीस सालाना 40,000 से 1 लाख रुपए तक होती है। और हम आपको बता दे कि B Pharma के हर प्राइवेट कॉलेज की फीस अलग होती है।

 

बी-फार्मा कितने साल का होता है | B pharma kitne saal ka hota hai

B Pharma का कोर्स 4 साल का होता है। इसमें 8 सेमेस्टर होते है। अगर आप भी फार्मासिस्ट बनना चाहते हैं, तो 12वी के बाद B Pharma यानी Bachelor of Pharmacy कर सकते हैं, जो कि बैचलर की डिग्री होती है। इसके बाद आप मास्टर भी कर सकते है।

 

बी-फार्मा में एडमिशन | B pharma main admission :

B Pharma में एडमिशन लेने के लिए आप का 12वी पास होना जरुरी है। तभी आप B Pharma में एडमिशन ले सकते है। और साथ ही 12वी में 50 प्रतिशत या उससे उपर मार्क्स लाने अनिवार्य है।

B Pharma के लिए आप गवर्नमेंट या प्राइवेट किसी भी कॉलेज को चुन सकते है। जैसा की आप जान चुके है कि प्राइवेट कॉलेज की फीस महंगी होती है। प्राइवेट कॉलेज की 1 साल की फीस 1 लाख के करीब होती है। और इसका कोर्स 4 साल का होता है।

अगर आप गवर्नमेंट कॉलेज से B Pharma करने की सोच रहे है तो उसके लिए आपको पहले Entrance exam क्लियर करना होगा। इसके बाद Group Discussion और फिर Counseling इसी के आधार पर आप गवर्नमेंट कॉलेज से B Pharma कर सकते है।

Entrance exam के लिए आप TS EAMCET, APEAMCET, BSECE, WBJEE आदि जैसे राज्य स्तर की परीक्षाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

बी-फार्मा के टॉप कॉलेज इन इंडिया | B pharma k Top Collage In India :

B Pharma के 10 टॉप कॉलेज आज हम आप को बताएंगे जिसमें एडमिशन लेकर आप B Pharma का कोर्स कर सकते है। ये है इंडिया के टॉप कॉलेज के नाम-

  • Jamia Hamdard, New Delhi
  • Manipal College of Pharmaceutical Sciences, Manipal (Karnataka)
  • Institute of Chemical Technology (ICT), Mumbai (Maharashtra)
  • JSS College Of Pharmacy Ooty, Tamil Nadu
  • Poona College of Pharmacy, Pune (Maharashtra)
  • Delhi Pharmaceutical Sciences and Research University, New Delhi
  • Birla Institute of Technology and Science, Pilani (Rajasthan)
  • The Maharaja Sayajirao University of Baroda, Vadodara (Gujarat)
  • Lovely Professional University, Phagwara (Punjab)
  • Sri Ramachandra Institute of Higher Education and Research, Chennai (Tamil Nadu)

 

ऐसा नही है कि इनके अलावा B Pharma के और कॉलेज नही है। आप चाहे तो लॉकेशन के आधार पर भी कॉलेज देख सकते है। और जैसा की हमने आपको बताया था कि प्राइवेट कॉलेज की फीस भी अलग अलग होती है। तो आप फीस के हिसाब से भी कॉलेज देख सकते है। हमने यहां आपको B Pharma के कुछ नामी कॉलेजों की जानकारी दी है।

 

बी-फार्मा के लिए क्वालिफिकेशन | B pharma k liye qualification :

B Pharma का कोर्स करने के लिए 12वी पास होना जरुरी है। वो भी 50 प्रतिशत अंकों के साथ तभी आप B Pharma में एडमिशन ले सकते है। और उम्र सीमा की बात करे तो आपकी उम्र 18 से 23 साल के बीच होनी चाहिए।

आप 12 के बाद फीस देकर किसी भी प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन ले सकते है। या Entrance exam के आधार पर गवर्नमेंट कॉलेज में प्रवेश पा सकते है।

 

बी-फार्मा के बाद नौकरी | B pharma k baad nokri :

B Pharma करने के बाद कैरियर के लिए हमें बहुत विकल्प मिल जाते है। जैसे हम टीचिंग लाइन में जा सकते है, फार्मासिस्ट बन सकते है, मेडिकल ट्रांसक्रिप्शनिस्ट या क्वालिटी एश्योरेंस मैनेजर बन सकते है, सेल्स एंड मार्केटिंग मैनेजर बन सकते है, डेटा मैनेजर बन सकते है, ड्रग रेगुलेटरी मैनेजर बन सकते है, साइंटिस्ट, हेल्थकेयर प्रोफेशनल्स या रिटेलर्स का काम कर सकते हैं।

B Pharma और Medical के क्षेत्र में अपनी पढाई पूरी करने के बाद उम्मीदवारों को देश के कई विश्वविद्यालयों द्वारा सम्मानित किया जाता है।

B Pharma करने के बाद आपके रोजगार के लिए नए नए रास्ते खुल जाते है। आप किसी भी Hospital Pharmacies, Pharmaceutical Companies आदि में रोजगार पा सकता है। B Pharma करने के बाद आप अपनी खुद Pharmacy दुकानें भी खोल सकते हो।

जब एक बार आप B Pharma पूरा कर लेते हैं, तो आपके पास बहुत सारे कैरियर के अवसरों होते है।

 

बी-फार्मा सैलरी | B pharma salary :

B Pharma के क्षेत्र में सैलरी की बात करे तो फ्रेशेर्स के लिए प्रारंभिक सैलरी 10,000 रुपये प्रति माह से शुरु होती है। और जैसे जैसे अनुभव बढता जाता है उसी प्रकार सैलरी भी बढती जाती है।

और विदेश में सैलरी की बात करे तो विदेश में शुरूआती वेतन 15,000 डॉलर से 25,000 डॉलर प्रतिवर्ष के बीच हो सकता है। और अगर आप खुद का काम कर रहे है तो सैलरी 25,000 तक हो सकती है। यही नही आप मेडिकल से संबंधित जिस फील्ड में भी जाएंगे हर जगह आप के आपकी काबिलियत के हिसाब से वेतन मिलेगा।

 

बी-फार्मा के बाद क्या करे  | B pharma ke baad kya kare :

B Pharma Course करने के बाद लोग सोचते है अब क्या करें। जैसा कि मैंने आपको इस पोस्ट में बताया कि हम B Pharma करके के बाद मेडिकल की लाइन में जॉब पा सकते है।

जैसे आप टीचिंग लाइन में जा सकते है, फार्मासिस्ट बन सकते है, डेटा मैनेजर बन सकते है, ड्रग रेगुलेटरी मैनेजर या आप मेडिकल से रिलेटिड और भी फील्ड में जॉब प्राप्त कर सकते है।

जिसमें आपका फायदा ही फायदा है। और आप चाहे तो खुद की मेडिकल की दुकान भी खोल सकते है।

और अगर आप और पढना चाहते है, या दवाइयो की और जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप M Pharma का कोर्स कर सकते है। जो कि B Pharma के बाद किया जाता है।

क्योकि B Pharma एक बैचलर डिग्री कोर्स है और M Pharma एक मास्टर कोर्स है। जो बैचलर के बाद किया जाता है। और M Pharma का फुल फॉर्म Master of Pharmacy होता है।

 

बी-फार्मा करने के फायदे | B pharma karne k fayde :

चलिए जान लेते है B pharma करने के क्या क्या फायदे है। अगर आप 12 के बाद इस कोर्स को करते है तो इससे आपको बहुत फायदे होते है।

  • B pharma आपको मेडिकल लाइन की अच्छी जानकारी हो जाती है।
  • B pharma करने के बाद आप pharmacist के रुप में कॉलेज में नौकरी कर सकते है।
  • B pharma करने के बाद आप प्राइवेट और सरकारी विभाग में रिसर्च का काम कर सकते है।
  • इस कोर्स को करने के बाद आप केमिस्ट की जॉब कर सकते है।
  • B pharma करने के बाद के बाद आपको दवाइयो का ज्ञान हो जाता है। और आप अपना खुद का स्टोर भी खेल सकते है। जो कि पूरी तरह से कानूनी होता है। क्योकि B pharma करने के बाद आपको लाइसेंस मिल जाता है।

 

FAQ’s B Pharma (बी फार्मा)

सवाल :- D Pharma या B Pharma दोनो में से कौन सा कोर्स अच्छा है?

ओबियसली बी फार्मा कोर्स डी फार्मा कोर्स से बेहतर है क्योंकि एक डिप्लोमा और एक बैचलर डिग्री जारी करती है और आपको पता ही होगा कि डिप्लोमा के बाद ही बैचलर होती है, इसलिए बी फार्मा इससे बेहतर है और यह उससे अधिक बेस्ट कैरियर स्कोप बनकर तैयार कराती है।

सवाल :- D Pharma के बाद B Pharma कैसे करें?

जैसे ही आप डी फार्मा कोर्स को पूर्ण कर लेते है और उसका डिग्री प्राप्त कर लेते है तब आप चाहे तो उसी कॉलेज में बी फार्मा कोर्स को करने के लिए एड्मिशन ले सकते है या फिर आपको जो कॉलेज पसंद आयें उसमें नामांकन करवाया जा सकता है।

हमने आपको पहले बताया था कि बी फार्मा कोर्स पूरे चार साल की बैचलर कोर्स होती है, लेकिन जब आप डी फार्मा करके इसका बैचलर कोर्स करना चाहते है तब आप इसे सिर्फ तीन साल में ही पूर्ण कर सकते है, जैसे ही आप बी फार्मा में एड्मिशन करवाते है और वहाँ अपना डी फार्मा का डिग्री बताते है आपको डायरेक्ट सेकंड इयर में नामांकन कर दी जाती है।

सवाल :- क्या डी फार्मा में सिक्योर कैरियर बनाया जा सकता है?

मेडिकल क्षेत्र की हर कोर्स सिक्योर कैरियर प्रदान करती है, अगर आप इसे कर लेते है तब आप नौकरी की तलाश कर सकते है या फिर इसका वेकेन्सी आने पर आवेदन दे सकते है। आप चाहे तो फार्मासिस्ट के रूप में मेडिकल शॉप खोल सकते है या फिर छोटी तौर पर डॉक्टर का काम भी शुरू कर सकते है।

 

Conclusion

इस आर्टिकल में आपने B Pharma kya hota haiबी फार्मा की पूरी जानकारी हिंदी में के बारें में जाना। आशा करते है आप B Pharma Kya hai कोर्स के बाद यंहा पर मिलेगी जॉब की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी शेयर करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे शेयर अवश्य करें। शुरू से अंत तक इस आर्टिकल को रीड करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

Leave a Comment