Khubkala Ke Fayde : 15 फायदे और नुकसान खूबकला खाने के

khubkala ke fayde : खूबकला एक आयुर्वेदिक वनस्पति है खूबकला औषधीय गुणों से भरपूर है इससे बहुत गंभीर बीमारियाँ भी ठीक होती है खूबकला कश्मीर, हरयाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश और  राजस्थान में पाए जाते है

इसका आयुर्वेद में बहुत फायदे है, खूबकला सिस्यम्ब्रियम इरियो लिन का बीज है और ये पौधों की ब्रेसिसेकी परिवार से संबंधित है यह  मिटटी में जडी बूटी के रूप में पाया जाता है

खूबकला एक उपयोगी पौधा है इसे हेज मस्टर्ड से दुनिया में जाना जाता है यह सरसों के बीज जैसे होते है

इनका स्वाद तीखा होता है इससे होने वाली चिकित्सा को यूनानी चितिक्सा भी कहते है खूबकला में बहुत सारे पोषण तत्व है जिस कारण ये बहुत लाभकारी है  इसमें दिए गए तत्व मौजूद होते है पर तत्वों की मात्रा खूबकला कितना है इसपे निर्भर करती है

 

खूबकला के फायदे क्या है (khubkala seeds benefits in Hindi)

 

Khubkala Ke Fayde in hindi
Khubkala khane Ke Fayde in Hindi

 

खूबकला में प्रस्तुत पोषण तत्व

राइबोफ्लेविन आयरन
जिंक फॉस्फोरस
पोटैशियम सोडियम
मैग्नीशियम थियामिन
कैल्शियम फाइबर
टोटल लिपिड मिनरल्स
पानी फोलेट
कैलोरी कॉपर
प्रोटीन नियासिन
कार्बोहाइड्रेट्स विटामिन सी

आइये खूबकला फायदों और नुक्सान के बारे में जानते है

 

खूबकला के फायदे (khubkala ke fayde kya hai)

खूबकला का प्रयोग बहुत सारी शारीरिक और मानसिक समस्याओं में लाभकारी है

इससे कई बिमारियों के इलाज़ में भी सहायता मिलती है इसके बीज और पत्तों को अलग अलग तरह से अलग अलग पदार्थों के साथ उपयोग में लाया जाता है आइये इससे जिन बिमारियों और कमजोरियों या समस्याओं से राहत मिलती है विस्तार में उनके बारे में जानते है

 

1) थाइरोइड (Thyroid) से बचने में लाभकारी

क्या आप भी अपने गले में निकलने वाली गिल्टी से परेशान है इस गिल्टी को ग्रंथि भी कहते है यह हमारे शरीर में मेटाबोलिज्म के बढ़ने के कारण उसे नियंत्रित करने के लिए हो जाती है

पर यदि इस ग्रंथि में ही कोई विकार हो जाये तो यह एक समस्या का विषय बन जाता है इसका निवारण ज़रूरी हो जाता है इसे ही थाइरोइड कहते है,

थाइरोइड पीड़ितों के लिए खूबकला एक बहुत लाभकारी औषधी है इसका उपयोग मुनक्का और अंजीर के साथ किया जाता गई इसके रेसिपी बहुत फायदेमंद साबित होती है

अगर आपको थाइरोइड के लक्षण देखने को मिले तो तुरंत इसका काढ़ा पीए, थाइरोइड के लक्षणों में कमजोरी, अनिद्रा, वजन घटना या बढ़ना, दिल तेजी से धड़कना, अत्यधिक पसीना आना, अत्यधिक प्यास लगना, चिंता आदि शामिल है,

खूबकला और गिलोय के काढ़े से थाइरोइड  से आराम मिलने लगता है इसके लक्षण भी कम होने लगते है पर यदि यह लक्षण बढ़ने लगे और आपकी समस्या और बढ़ने लगे तो डॉक्टर से संपर्क करे


2) चेचक (Chicken pox) में सहायक

इसको आप छोटी माता के नाम से भी जानते होंगे जब आपके शरीर पर असामान्य रूप से दाने पड़ने लगते है

और आप शारीरिक कमजोरी के शिकार हो जाते है तो यह चेचक के मुख्य लक्षणों में आता है इसे लोग घर पर  चीज़ों से परहेज करके भी ठीक करते है

वह सब भी एक तरह का आयुर्वेद ही है और  हमें अभी इसके बारे में इतनी जानकारी नही है

यह विषाणु से होने वाला रोग है यह एक प्रकार के विषाणु संक्रमण से भी होता है यह संक्रमण कुछ लोगों में फैलता है और कुछ लोगो में नही फैलता बाहर के देशों में इसे एक संगीन बीमारी के रूप में जाना जाता है

पर भारत में इसे धार्मिक मान्यता से भी जोड़ा जाता है भारत में माना जाता है की दाने के रूप में माता प्रगट होती है

चेचक के इलाज के लिए khubkala का भी उपयोग बहुत तरीको से किया जाता है

इसका लेप शरीर को दानों से मुक्त करने में सहायता करता है, खूबकला के खुल और पत्तियो को पीस कर लेप बनाया जाता है और इस लेप को नियमित रूप से कुछ दिन तक लगाया जाता है

जिससे दानो या जिसे आप धब्बो के रूप से समझते है उनपे आराम मिलता है धीरे धीरे आपका शरीर इस संक्रमण से मुक्त होने लगता है

अगर आपको खूबकला से एलर्जी नही है तो आप इसे बिना किसी संकोच से प्रयोग कर सकते है

इसका कोई दुष्प्रभाव नही है बहार से तो ये लेप के रूप में संक्रमण ख़त्म करता है शरीर के अन्दर के संक्रमण को खत्म करने के लिए इसके बीजो को उबाल कर उसके पानी का सेवन कर सकते है इससे आपके शरीर में उपस्थित विषाणु का नाश करता है


3) अस्थमा (Asthma) से छुटकारा

सांस लेने वाले मार्ग पर जब सूजन आ जाती है जिससे हमें साँस लेने में कठिनाई होने लगती है इस बीमारी को अस्थमा कहते है

इसमें आप ना सांस सही से ले पाते है ना ही छोड़ पाते है  आपको सांस लेते समय ऐसा लगता है जिअसे आपका शरीर इस प्रक्रिया में सहायक नही है

अस्थमा एक सांस की समस्या वाली बीमारी है आसान शब्दों में इसे सांस की बीमारी भी कहा जाता है khubkala ke fayde में अस्थमा से राहत होना भी शामिल है

खूबकला का पौधा और उसके बीज उसकी पत्तिया इस बीमारी के लिए बहुत लाभकारी है अस्थमा के लक्षणों को दूर करने में खूबकला सहायक है

यह आपके स्वास लेते समय जिस अंग में सूजन होने के कारण समस्या उत्पन्न हो रही होती है उस अंग की सूजन को कम करता है, जिससे ज़ल्दी ही आपको आराम दिखने के आसार है

खूबकला के बीजों को पीस का उसका चूरन बना कर रख ले रोजाना इस चूरन को दूध में मिला कर इसका सेवन करे आपको आराम की अनुभूति होगी आपको एक गिलास दूध में आधा चम्मच खूबकला के बीज का चूरन मिलाना है

तथा जब तक आपको पूर्ण तरह से आराम न मिल जाए तब तक रोजाना दिन में एक बार इसका सेवन करना है


4) बवासीर (Hemorrhoid) से राहत

कभी कभी पाचन क्रिया में कुछ गढ़बढ़ होने से या जब आपकी पाचन क्रिया इतने कमज़ोर हो जाये की वो कुछ तीखा या भारी भोजन न संभाल पाए तो परिणाम स्वरुप आपको बवासीर की समस्या हो जाती है

बवासीर के दोनों प्रकार खुनी बवासीर और बेदी बवासीर दोनों के लिए  ही खूबकला फायदेमंद है बवासीर होने के कारण मलाशय में सूजन हो जाती है खूबकला इस सूजन को भी कम करने में लाभकारी है

इससे भी मुक्ति का सामान तरीका ही है खूबकला के बीजो को पीस कर पाउडर बना ले आप चाहे तो खूबकला के पत्तियों को भी पीस सकते है

उसके बाद इस चूरन को दूध में मिला कर रोजाना सेवन करे इससे आपके पाचन तंत्र को ये धीरे धीरे ठीक करने लगेगा जिससे समय के साथ आपको आराम दिखेगा और तो और आपके मलाशय की दिक्कत भी ख़तम हो जाएगी


5) हैजा (Cholera) की बीमारी में सहायक

यह एक जीवाणु के कारण होने वाली बीमारी है एक समय पर यह एक बहुत बड़ी समस्या का विषय था पर समय के साथ इसपर रहत पा ली गयी है

यह वाईब्रियो कालेरी नामक जीवाणु से होता है यह बीमारी संक्रमण से फैलती हैं आप इसके संक्रमण से बचने के लिए खूबकला का प्रयोग कर सकते है

यह इन जीवाणु द्वारा उत्पन्न एंटीटोक्सिन के असर को कम करता है जिससे आप इस बीमारी के संक्रमण से बच सकते है

हैजा से बचने के लिए गुलाब के पानी में इनके बीजो को भिगो कर छोड़ देना चाहिए सुबह तक यह पाने इन बीजों के गुणों से युक्त हो जाएँगे सुबह खाली पेट इनका सेवन करना चाहिए

आप बीज को निकाल के फेक दीजिए बस उससे युक्त पानी को पी लीजिये इस बीमारी में खूबकला के काढ़े का भी बहुत असर है इससे  भी आपको आराम मिलेगा


6) कफ (Cough) की समस्या से राहत

आपने भी कफ की समस्या झेली ही होगी ये कभी सर्दी से हो जाता है तो कभी मौसम के बदलाव से और कभी ठंडा गरम के सेवन से भी हो जाता है

इसकी समस्या एक बहुत ही सामान्य और कभी लाभी लंबे समय तक परेशान करने वाली समस्या में से एक है कफ की समस्या से राहत भी khubkala ke fayde में से एक है

खूबकला इस समस्या से भी राहत पहुचाने में लाभकारी है यह कफ की समस्या व्यक्ति को किसी भी उम्र में हुई हो उससे कोई फरक नही पड़ता

आप हर उम्र में इस समस्या के निवारण के लिए खूबकला की सहायता ले सकते है खूबकला के पत्तों का रस निकाल के रोजाना इनका सेवन करे इससे आपको कफ से राहत मिलेगी पर इस बात का ध्यान रखे की आप खूबकला के रस को पहले से ही निकाल कर न रखे रोज़ इसका जूस निकाले और ताज़ा-ताज़ा इसका सेवन करे क्योंकि बासी होने पर इसके फायदे कम हो सकते है


7) कमजोरी दूर करने में असरदार

कमजोरी आज के जीवन का हिस्सा बनते जा रही है अब बुजुर्गों के साथ साथ बच्चो और जवान लोगों को भी कमजोरी का एहसास होता है

पूरा दिन शरीर लस्त रहता है मानसिक और शारीरिक कमजोरी पीछा ही नही छोडती ऐसे में आप इस कमजोरी को दूर करने के लिए खूबकला की सहायता ले सकते है

खूबकला के बीजो को भून कर उसमे दूध मिला कर रोजाना इसका सेवन करे आपको ज़ल्द ही राहत देखने को मिलेगी


8) सरदर्द से आराम

सर दर्द की समस्या एक सामान समस्या है लेकिन तब तक जबतक ये हमारे रोजाना जीवन में न शामिल हो जाए रोजाना होने पर यह एक गंभीर समस्या का रूप ले लेती है और यदि आप भी सर दर्द की इस गंभीर समस्या से परेशान है तो खूबकला का उपयोग कर सकते है

खूबकला के बीजो को पानी में डालकर गरम करिए और फिर इस पानी का सेवन करिए इससे आपको राहत मिलेगी पर यदि इसके बाद भी राहत नही मिल रही है तो खूबकला के फूलो और पत्तियों को पीस कर लेप बना कर सर पर लगाइए इससे ज़रूर ही समस्या से राहत मिलेगी


9) शारीरिक विकास में सहायक

माँ के पेट में पल रहे बच्चे कभी कभी पोषण की कमी से कुपोषण के शिकार हो जाते है गर्भ में बच्चो को स्वस्थ रखने के लिए और होने वाली हानियों को बचने के लिए बकरी के दुख के साथ 40 ग्राम खूबकला के बीजो के चूरन का सेवन करने को कह सकते है

इससे पेट में पल रहे बच्चे के शारीरिक विकास में मदद मिलेगी और वह जन्म से पहले होने वाले कुपोषण का शिकार नही होगा


10) सूजन में लाभकारी

कई बार चोट लगने पर हमारे शरीर के जिस अंग में चोट लगी है वह हिस्सा फूल जाता है और कभी कभी कुछ काटने से या अंदरूनी समस्या से भी अंगो में सूजन देखने को मिल सकती है आप खूबकला से इस सूजन से राहत पा सकते है

शरीर के जिस अंग में सूजन हो उस हिस्से में खूबकला के पतियों का लेप बना कर लगाये और नियमित कुछ दिन लगाते रहे कुछ ही दिनों में आपकी सूजन एकदम ख़तम हो जाएगी


11) टाइफाइड बुखार में सहायक

टाइफाइड बुखार जो कई हफ़्तों तक पीछा नही छोड़ना और धीरे धीरे शरीर को लस्त करना शुरू कर देता है इसमें भी खूबकला से लाभ मिल सकता है

खूबकला को पीस कर चूरन बना ले उसके बाद मुनक्के के बीजो को निकाल कर उसपे खूबकला के चूरन को मिला कर रोजाना सेवन करने से बुखार से राहत मिलेगी टाइफाइड से मुक्ति पाना भी khubkala ke fayde है


12) बुखार से राहत

दूध या पानी में खूबकला को पका कर पीने से बुखार बहुत ज़ल्द ठीक हो जाता है


13) रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में सहायक

यदि आपको लगता है की आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो गयी है यानी आप ज़ल्दी बीमार होने लग गए है

और आपके घाव ज़ल्दी ठीक नही हो रहे तो आप खूबकला का सेवन कर सकते है, खूबकला का सेवन बहुत प्रकार से होता है इसके बीजो को गरम पानी में डाल कर पका कर इस पानी का सेवन करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है

खूबकला का चूरन बना के उसको पानी के साथ सेवन करने से व्यक्ति की रोग प्रतिरोधन क्षमता बढ़ती है


FAQs : khubkala ke fayde Hindi me

सवाल : खूबकला के नुक्सान क्या है

बहुत ज्यादा सेवन या गर्मी में लगातार सेवन से नुक्सान हो सकता है क्योंकि खूबकला गर्म होता है और हमारे शरीर में गर्मी पैदा करता है

सवाल :  खूबकला के 5 फायदे

खूबकला के फायदे निम्नलिखित है

  1. बुखार में लाभकारी
  2. हैजा, कफ, अस्थमा से बचने में सहायक
  3. रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने में सहायक

सवाल : खूबकला क्या है

खूबकला एक औषधी वाला पौधा है

सवाल : खूबकला के तत्व

खूबकला में राइबोफ्लेविन, जिंक, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, टोटल लिपिड, पानी, कैलोरी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, आयरन, फॉस्फोरस, सोडियम, थियामिन, फाइबर, मिनरल्स, फोलेट, कॉपर, नियासिन, विटामिन सी आदि तत्व होते है


Conclusion

इस लेख में आपने khubkala ke fayde के बारे में जाना आशा करते है | आप Khubkala खाने का तरीका, Fayde और Nuksan जैसे महत्वपूर्ण विषय की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें

और इस विषय संबंधित कोई भी सवाल आप के मन में होगा तो निचे कमेंट में बताये हम आप के कमेंट का जरूर जवाब देंगे | शुरू से अंत तक इस लेख को पढ़ने के लिए तहेदिल से शुक्रिया…

error: Content is protected !!