पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ | Eating Raw Garlic for Men in Hindi

पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ: प्राचीन काल से ही मनुष्य स्वस्थ रहने के लिए अनेक प्रकार की जड़ी बूटियों और घरेलू वस्तुओं का प्रयोग करता आ रहा है

औषधि वह पदार्थ है जिनकी पर्याप्त मात्रा शरीर में निश्चित प्रकार का असर दिखाती है,  इनका प्रयोजन चिकित्सा में होता है किसी भी पदार्थ को औषधि के रूप में प्रयोग करने के लिए हमें उस पदार्थ का गुण, मात्रा अनुसार व्यवहार, शरीर पर विभिन्न मात्राओं में होने वाला प्रभाव आदि की जानकारी होना अति आवश्यक है

औषधियाँ रोगों के इलाज में काम आतीं हैं प्रारंभ में औषधियाँ पेड़-पौधों, जीव जंतुओं से आयुर्वेद के अनुसार प्राप्त की जातीं थीं, लेकिन जैसे-जैसे रसायन विज्ञान का विस्तार होता गया, नए-नए तत्वों की खोज हुई, तथा उनसे नई-नई औषधियाँ कृत्रिम विधि से तैयार की गईं आयुर्वेद और रसोई दोनों के दृष्टिकोण से लहसुन एक बहुत ही महत्वपूर्ण फसल है

भारत का चीन के बाद विश्व में क्षेत्रफल और उत्पादन की दृष्टि से दूसरे नंबर पर है

जो क्रमशः 1.66 लाख हेक्टेयर और 8.34 लाख टन है लहसुन में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं

हमारा भारत ऐसा देश है जहां लोग सबसे पहले घरेलू इलाज का प्रयोग करते हैं जैसे नीम की पत्तियों का प्रयोग,अदरक का प्रयोग जुखाम कम करने में ऐसे ही अनेक प्रकार की घरेलू वस्तुएं हैं

जिनका लोग अधिक मात्रा में प्रयोग करते हैं, उनमें से ही एक है लहसुन, लहसुन का प्रयोग अन्य प्रकार की बीमारियों और मनुष्य द्वारा स्वस्थ रहने के लिए किया जाता है,

लहसुन का प्रयोग पुरुष और महिलाएं दोनो ही कर सकते हैं इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है पर आज हम पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ के बारे में बारे में पढ़ेंगे

 

 Garlic for Men in Hindi
Garlic for Men in Hindi

 

पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ | Garlic Benefits for Man in Hindi

लहसुन प्याज कुल (एलिएसी) की एक प्रजाति है इसका वैज्ञानिक नाम एलियम सैटिवुम एल है

इसके करीबी रिश्तेदारों में प्याज, शलगम और हरा प्याज आदि शामिल है लहसुन पुरातन काल से दोनों, खाने में और औषधि परियोजना के लिए प्रयोग किया जा रहा है

इसकी खास गंध होती है तथा स्वाद तीखा होता है जो पकाने पर काफी हद तक बदल कर मृदुल हो जाता है लहसुन की एक गांठ जिसे आगे कई मांसल पुथि में विभाजित किया जा सकता है

इसके पौधे का इस्तेमाल किया जाने वाला भाग है पुथी को बीज उपभोग और औषधीय रूप में प्रयोग किया जाता है

इसकी पत्तियां तना और फूलों का भी उपयोग किया जाता है, आमतौर पर जब वो नरम होते हैं इसकी कागजी सुरक्षात्मक परत जो इसके विभिन्न भागों और गांठ से जुड़ी जड़ों से जुड़ा रहता है

यह एक ही एकमात्र अखाद्य हिस्सा है इसका इस्तेमाल गले तथा पेट संबंधी बीमारियों में होता है ऐसे में पाए जाने वाले सल्फर के यौगिक ही इसके स्वाद और गंध के लिए उत्तरदाई होते हैं

जैसे एलिसिन ऐजोइन इत्यादि लहसुन सर्वाधिक चीन में उत्पादित होता है उसके बाद दूसरे नंबर पर भारत में होता है

लहसुन अनेकों प्रकार से मानव स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है, इसके लाभ के बारे में प्राचीन किताबों में भी बताया गया है

 

लहसुन खाने के लाभ 

1. सर्दी खांसी को दूर करता है
2. रक्तचाप कम करने में प्रयोग होता है
3. हृदय स्वास्थ्य के लिए अच्छा है
4. वजन कम करने में सहायक होता है
5. यौन स्वास्थ्य में सुधार होता है
6. स्टैमिना बढ़ाता है
7. रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है
8. पाचन में सुधार होता है
9. खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखता है
10. मस्तिष्क की कार्यप्रणाली में सुधार करता है
11. औषधीय गुणों से भरपूर

 

1) सर्दी जुखाम को कम करने में सहायक | Sardi jukham ko kam karne me sahayak

कच्चे लहसुन का उपयोग खांसी और सर्दी के संक्रमण को दूर करने के लिए उपयोगी होता है लहसुन की कुटी हुई दो कलियां खाली पेट खाने से सबसे ज्यादा फायदा होता है

बच्चों और शिशुओं के लिए लहसुन की कलियों को उनके गले में धागे में लटकाने से कंजेक्शन के लक्षणों से राहत मिलती है लहसुन से सर्दी के लक्षणों को 70% तक कम किया जा सकता है


2) ब्लड प्रेशर कम करने में सहायक होता है | blood pressure kam karne me sahayak hota hai

जिन व्यक्तियों का रक्तचाप उच्च होता है वह अगर लहसुन का सेवन करें तो लहसुन उच्च रक्तचाप को कम करने में भी सहायक होता है


3) दिल के स्वास्थ्य में सुधार होता है | Heart ki health me sudhar hota hai

  • लहसुन में एलिसिन पाया जाता है,  जो कि एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) के ऑक्सीकरण को रोकता है
  • लहसुन कोलेस्ट्रोल के स्तर में काफी सुधार कर सकता है हृदय की समस्याओं को काफी हद तक दूर कर सकता है
  • लहसुन का नियमित सेवन रक्त के थक्के की घटनाओं को कम करता है और इस प्रकार थ्रोंबो थ्रोम्बोम्बोलिज्म को रोकने में मदद करता
  • है लहसुन रक्तचाप को भी कम करता है इसलिए ये उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए भी अच्छा है

4)  वजन कम करने में सहायक होता है  | Weight kam karne me sahayak hota hai

लहसुन वसा को जमा करने वाली वसा कोशिकाओं के निर्माण के लिए जिम्मेदार जीन की अभिव्यक्ति को कम करता है, ये शरीर में थर्मोजेनेसिस को भी बढ़ाता है

और अधिक वसा जलने और एलडीएल को कम करने की ओर ले जाता है जो वजन घटाने के लिए भी अच्छा है,  क्योंकि जब शरीर में वसा की मात्रा कम होती है तो वजन अपने आप कम हो जाता है,

वास्तव में कच्चे लहसुन की एक कली जो लगभग 3 ग्राम की होती है उसमें बहुत सी लाभदायक चीजें शामिल होती हैं जैसे कि


•मैंगनीज
•सेलेनियम
•विटामिन सी
•विटामिन बी 6
•रेशा
•कैल्शियम
•कॉपर
•पोटेशियम
•आयरन आदि


5) यौन स्वास्थ्य में सुधार होता है

पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ यह है कि इससे यौन स्वास्थ्य में सुधार होता है

लहसुन को रसोई में मसाले के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है,  लेकिन लहसुन सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाने में ही नहीं बल्कि पुरुषों के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए भी बेहतरीन है

लहसुन में उपस्थित एलिसिन यौगिक रक्त प्रवाह बढ़ाने में सहायक होता है यौन लाभ एलिसिन यौगिक से प्राप्त होते हैं यह एक शक्तिशाली योगिक है यह यौगिक कामेच्छा को भी बढ़ाता हैशोध के अनुसार

जिन पुरुषों का रक्त प्रवाह अच्छा होता है उन्हें यौन लाभ मिलते हैं,  लहसुन की रक्त वाहिकाओं को आराम देने की क्षमता रक्त परिसंचरण को बेहतर बनाती है

यह अप्रत्यक्ष रूप से पुरुषों के यौन रोग को कम करता है यदि कोई पुरुष यौन स्वास्थ्य बढ़ाना चाहता है तो उसे रोज 3 से 4 कच्चे लहसुन चबाकर खाने चाहिए आप इसे भूनकर, अथवा दूध या शहद के साथ भी ले सकते हैं

लहसुन की दो तीन कलियों को पीसकर इसमें एक चम्मच कच्चा शहद मिला लें इसका अधिक लाभ पाने के लिए इसे खाली पेट खाना चाहिए,खाली पेट खाने से इसके बहुत अधिक लाभ मिलते हैं

यह प्राकृतिक तरीका है इसलिए आपको धैर्य से काम करना होगा, कुछ दिनों में ही आपको परिवर्तन नहीं देखने को मिलेगा इसका लाभ पाने के लिए आपको लगातार इसका सेवन करना पड़ेगा, तथा लाभ आपको दो-तीन महीने में देखने को मिल सकता है


6) स्टैमिना बढ़ाता है | Stamina badhta hai

लहसुन मनुष्य का स्टैमिना बढ़ाने में भी मददगार होता है, लहसुन की खुराक शरीर में नाइट्रिक ऑक्साइड के स्तर को बढ़ा देती है

जिससे रक्त वाहिकाओं को बेहतर तरह से कार्य करने में मदद मिलती है, और पूरे शरीर में स्वस्थ रक्त प्रवाह का बेहतर संचार होता है इससे लिंग में रक्त का प्रवाह तेज हो जाता है और इरेक्टाइल फंक्शन में भी सुधार होता है


7) रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करता है |  Rog pratirodhak chamta me vridhi karta hai

लहसुन हमारे शरीर को फ्री रेडिकल्स से बचाता है, और डीएनए को होने वाले नुकसान से बचाता है, लहसुन में मौजूद जिंक रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है

विटामिन सी संक्रमण से लड़ने में मदद करता है ये आंख और कान के संक्रमण के खिलाफ बहुत फायदेमंद है क्योंकि इसमें रोगाणुरोधी गुण होते हैं


8) पाचन में सुधार होता है |  Paachan me sudhaar hota hai

लहसुन को आहार में शामिल करने से पाचन संबंधी समस्याएं काफी हद तक ठीक हो जाती हैं

इसीलिए घर में जो दाल बनती है उसमें लहसुन का तड़का लगाया जाता है ये आंतों को लाभ पहुंचाता है और शरीर के सूजन को कम करता है

कच्चा लहसुन खाने से पेट के कीड़ों को दूर करने में मदद मिलती है अच्छी बात यह है कि लहसुन खराब बैक्टीरिया को नष्ट करता है और अंत में अच्छे बैक्टीरिया की रक्षा करता है


9) खून में शुगर की मात्रा को नियंत्रित रखता है | khoon me sugar ki matra ko Niyantrit rakhta hai

लहसुन ब्लड शुगर को संतुलित रखता है जो लोग मधुमेह से पीड़ित हैं वह अपने रक्त शर्करा के स्तर को कच्चे लहसुन का सेवन करके नियंत्रित रख सकते हैं


10) मस्तिष्क की कार्य प्रणाली में सुधार करता है | Mashtishka ki karya pranali me sudhaar karta hai

लहसुन अपने कुछ विशिष्ट गुणों जैसे एंटी ऑक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों के कारण मस्तिष्क के स्वास्थ्य को बढ़ावा देता है अल्जाइमर और मनोभ्रंश जैसे न्यूरोडीजेनरेटिव रोगों के खिलाफ काफी प्रभावी है


11) औषधीय गुणों से भरपूर है | Aushadhiye guno se bharpura hai

लहसुन अनेक प्रकार के औषधीय गुणों से भरपूर है इसके कुछ महत्वपूर्ण गुण नीचे दिए गए हैं

  • इसमें उपस्थित सल्फर यौगिकों की वजह से लहसुन अपने आप में गुणकारी होता है लहसुन की कली को चबाकर खाने से सल्फर यौगिक बनते हैं शोध से स्पष्ट हुआ है कि इन यौगिको से स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं
  • यह योगिक हृदय स्वास्थ्य में सुधार या कोलेस्ट्रोल कम करने का कार्य भी करते हैं
  • इसमें बहुत ही कम मात्रा में कैलोरी पाई जाती है
  • लहसुन में एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं जिससे यह उम्र के बढ़ते असर को कम करता है
  •  यदि आपको रक्त परिसंचरण और हृदय से संबंधित समस्याएं हैं तो लहसुन का सेवन अवश्य करें
  • लहसुन संक्रमण को कम करता है तथा जीवाणु कवक और परिजीवी संक्रमण के इलाज के लिए एंटीबायोटिक के रूप में कार्य करता है

12) रक्त विषाक्तता को भी कम करता है | Rakt Vishaktata ko bhi kam karta hai

जो लोग व्यावसायिक खतरो के कारण सीसा विषाक्तता के लिए अति संवेदनशील होते हैं

उनके लिए लहसुन सबसे अच्छा जैविक समाधान हो सकता है 2012 में किए गए अध्ययनों से पता चला कि लहसुन वास्तव में पेनिसिलेमाइन की तुलना में रक्त के सीसा विषाक्तता को कम करने में सुरक्षित और बेहतर है जो कि इसके इलाज के इस्तेमाल की जाने वाली सामान्य दवा है


13) एस्ट्रोजन की कमी को दूर करता है | Astrogen ki kami ko dur karta hai

वृद्ध महिलाओं के लिए राजोनिवृत्ति की अवधि अक्सर साइटोकीन नामक प्रोटीन के अनियमित उत्पादन के कारण एस्ट्रोजन नामक महिला हार्मोन की कमी से जुड़ी होती है

लहसुन का सेवन कुछ हद तक इसे नियंत्रित करने के लिए देखा गया है और इसलिए लहसुन रजोनिवृत्ति के बाद एस्ट्रोजन की कमी को दूर करने में प्रभावी हो सकता है


14) व्यायाम से हुए थकान को कम करता है | Vyayaam se hue thakan ko kam karta hai

कुछ अध्ययनों के अनुसार कच्चे लहसुन को पानी और शराब के मिश्रण में डालने पर व्यायाम सहनशक्ति पर महत्वपूर्ण प्रभाव पड़ सकता है मानव अध्ययन भी किए गए हैं जिनसे पता चला कि लहसुन वास्तव में व्यायाम से हुए थकान के लक्षणों में सुधार कर सकता है


15) मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है | Mansik swasthya me sudhaar hota hai

यदि कोई पुरुष रोज लहसुन खाता है तो उसके मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है लहसुन का सेवन करने से तनाव, चिंता,थकान,अनिद्रा आदि में कमी आती है तथा मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य में अनेक प्रकार का सुधार देखने को मिलता है


16) हृदय के ब्लॉकेज को रोकता है | Heart blockage ko rokta hai

कहा जाता है कि लहसुन रक्त में प्लेटलेट्स की चिपचिपाहट को कम करने में भी मदद करता है,  यह प्लेटलेट्स रक्त के थक्के जमने के लिए जिम्मेदार होते हैं

लहसुन की एक स्वस्थ खुराक लेने से प्लेटलेट्स के अत्यधिक थक्के के प्रभाव को कम करने में मदद मिल सकती है इसलिए यह धमनियों के अंदर अनावश्यक रक्त के थक्के को रोकने में मदद कर सकता है जो आपके दिल तक पहुंच सकते हैं जिससे दिल का दौरा भी पड़ सकता है


17) त्वचा के स्वास्थ्य में सुधार करता है | Tvacha ke swasthya me sudhar karta hai

लहसुन मुहांसों को रोकने में मदद करता है और वह मुहांसों के निशान को हल्का करता है लहसुन के रस को लगाने से कोल्ड सोर,सोरायसिस रैशेज और फाफोलो जैसे सभी रोगों से फायदा हो सकता है यह यूवी किरणों से भी बचाता है इसलिए उम्र बढ़ने से रोकता है


18) शारीरिक प्रदर्शन में बढ़ावा

पहले के समय में खिलाड़ियों को शारीरिक प्रदर्शन बढ़ाने के लिए लहसुन दिया जाता था पशु परीक्षण के कुछ शोध के अनुसार व्यायाम प्रदर्शन को बेहतर में लहसुन के फायदे दिखाए गए हैं,हालांकि इस लाभ के समर्थन के लिए मनुष्यों पर अध्ययन कम ही हुए हैं


19) कैंसर और पेप्टिक अल्सर से बचाता है | Cancer or Peptic alsar se bachata hai

एंटीऑक्सीडेंट की उच्च मात्रा के कारण लहसुन शरीर को फेफड़े,मूत्राशय,यकृत,गुर्दे और पेट के कैंसर से बचाता है लहसुन की रोगाणुरोधी क्रिया पेप्टिक अल्सर को रोकती है क्योंकि ये आंत से संक्रमण को खत्म करती है


पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने के कुछ अन्य लाभ | Purusho ke liye kachhe lehsun khane ke kuch anya laabh

• कच्चे लहसुन के नियमित उपयोग से पुरुषों में शारीरिक कमजोरी की समस्या नहीं आती
• कच्चे लहसुन सर्दी के अलावा फ्लू के संक्रमण से भी बचाते हैं
• कच्चा लहसुन शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को संतुलित रखता है
• कच्चा लहसुन शरीर से टॉक्सिंस को बाहर निकाल देता है
• कच्चे लहसुन यूटीआई और किडनी के संक्रमण को रोकने में फायदेमंद होता है
• कच्चा लहसुन डायबिटीज को भी कंट्रोल रखता है
• अपने नियमित आहार में लहसुन का सेवन करने से ऑस्टियोअार्थराइटिस की शुरुआत को रोकने या कम करने में मदद हो सकती है

 

लहसुन के नुकसान | lehsun ke nuksan

1) त्वचा में जलन | Skin me jalan

लहसुन के उत्पाद संभवतः सुरक्षित होते हैं लेकिन त्वचा पर लहसुन के कुछ नुकसान हो सकते हैं लहसुन से त्वचा पर जलन पैदा हो सकती है लहसुन युक्त जेल,पेस्ट या माउथवॉश का उपयोग 3 महीने तक त्वचा पर करके देखा गया और पता चला कि इससे थोड़ी सी जलन भी हो सकती है


2) मुंह से दुर्गंध | Muh se smell

लहसुन की गंध बहुत तेज होती है, तो यदि आप कच्चे लहसुन का सेवन अधिक करते हैं तो आपके मुंह से गंध आ सकती है इसलिए कच्चे लहसुन का सेवन पर्याप्त मात्रा में करें


3) पाचन की समस्या | Pachan ki samasya

कच्चे लहसुन का सेवन करने से एसिडिटी की समस्या हो सकती है, पेट फूल सकता है तथा गैस भी बन सकती है


4) लहसुन के इस्तेमाल का सही समय | Lehsun ke istemaal ka sahi time

कई आयुर्वेदिक डॉक्टरों का कहना है कि लहसुन कई तरह के औषधीय गुणों से भरपूर होता है यह गुण बीमारियों को शरीर से दूर रखने में मदद करते हैं

वैसे तो लहसुन को किसी भी समय खाया जा सकता है लेकिन खाली पेट लहसुन खाना ज्यादा फायदेमंद होता है इसलिए आप सुबह खाली पेट लहसुन की कलियां खा सकते हैं


5) लहसुन के इस्तेमाल की सही मात्रा | lehsun ke istemaal ki sahi matra

एक मनुष्य को प्रति दिन ज्यादा से ज्यादा 1 या 2 कच्चे लहसुन ही खाने चाहिए यदि आप सब्जी में लहसुन का प्रयोग रहे हैं तो भी 5-6 से ज्यादा नहीं डालना चाहिए


लहसुन की खेती | lehsun ki kheti

लहसुन एक दक्षिण यूरोप में उगाए जाने वाली प्रसिद्ध फसल है भारत में लहसुन की खेती ज्यादातर राज्यों में की जाती है लेकिन इसकी मुख्य रूप से खेती गुजरात,मध्य प्रदेश,उत्तर प्रदेश,राजस्थान और तमिलनाडु में की जाती है उसका 50% से भी ज्यादा उत्पादन गुजरात और मध्य प्रदेश राज्य में किया जाता है

लहसुन की खेती के लिए दोमट मिट्टी काफी उपयुक्त मानी गई है इसकी खेती रेतीली मिट्टी से लेकर चिकनी मिट्टी में भी की जा सकती है जिस मिट्टी में कार्बनिक पदार्थ की मात्रा होने के साथ-साथ जल निकास के अच्छे से व्यवस्था हो वे इस फसल के लिए सर्वोत्तम माने गए हैं

रेतीली या ढीली भूमि में उसके कंदों का समुचित विकास नहीं हो पाता है जिस वजह से कम उपज हो पाती है

लहसुन को खाद एवं उर्वरकों की अधिक मात्रा में जरूरत होती है इसलिए इसकी मिट्टी की अच्छे से जांच करवा कर किसी भी खाद या उर्वरक का प्रयोग करना उचित माना गया है

लहसुन एक बारहमासी फसल है जो मूल रुप से मध्य एशिया से आया है तथा इसकी खेती दुनिया भर में होती है लहसुन खाने के लाभ बहुत से है जिस कारण इसका उपयोग भी बहुत जगह होता है और यह समय के साथ ख़राब भी ज़ल्दी नही होता है


लहसुन में पाए जाने वाले पोषक तत्व | Lehsun me paye jane wale poshak tatva

लहसुन में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसमें प्रोटीन 6.3 प्रतिशत,वसा 0.1 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट 21 प्रतिशत खनिज पदार्थ 1 प्रतिशत चुनाव 0.3 प्रतिशत लोहा 1.3 मिलीग्राम प्रति 100 ग्राम होता है

इसके अलावा विटामिन ए,बी,सी एवं सल्फ्यूरिक एसिड विशेष मात्रा में पाई जाती है इसमें पाए जाने वाले सल्फर के यौगिक ही इसके तीखे स्वाद और गंध के लिए उत्तरदायी होते हैं

इसमें पाए जाने वाले तत्वों में एक एलिसिन भी है जिसे एक अच्छे बैक्टीरिया रोधक,फफूद रोधक एवं एंटीऑक्सीडेंट के रूप में जाना जाता है

लहसुन में रासायनिक तौर पर गंधक की अधिकता होती है इसे पीसने पर एसिलिन नमक यौगिक प्राप्त होता है जो प्रतिजैविक विशेषताओं से भरा होता है इसके अलावा इसमें प्रोटीन तथा विटामिन बी, सैपोनिन,फ्लैवोनाइड आदि पदार्थ पाए जाते हैं


FAQs – पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ

सवाल : कच्चे लहसुन का प्रयोग करने का सही समय कौन सा है?

कच्चे लहसुन का प्रयोग खाली पेट सुबह करना ज्यादा लाभदायक होता है

सवाल : कच्चे लहसुन का सेवन करने से क्या नुकसान हो सकते हैं?

कच्चे लहसुन का त्वचा पर इस्तेमाल करने पर त्वचा में जलन हो सकती है

सवाल : कच्चे लहसुन का पुरुषों में एक लाभ बताइए ?

कच्चे लहसुन से पुरुषों की यौन स्वास्थ्य में सुधार होता है

सवाल : कच्चे लहसुन में कौन सा पोषक तत्व पाया जाता है?

विटामिन बी और सी तथा सल्फ्यूरिक एसिड

सवाल : कच्चे लहसुन का एक गुण बताइए?

कच्चा लहसुन शरीर में कोलेस्ट्रोल की मात्रा को नियंत्रित रखता है

 

Conclusion

इस लेख में आपने पुरुषों के लिए कच्चे लहसुन खाने का लाभ के बारे में जाना आशा करते है | आप Garlic for Men in Hindi क्या है जैसे महत्वपूर्ण विषय की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें।

और इस विषय संबंधित कोई भी सवाल आप के मन में होगा तो निचे कमेंट में बताये हम आप के कमेंट का जरूर जवाब देंगे | शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

 

error: Content is protected !!