सिर की नसों में दर्द क्यों होता है – Sir ki Naso me Dard Kyo Hota Hai

सिर की नसों में दर्द क्यों होता है : सिरदर्द होना आम बात है और सिरदर्द कई तरह के है अगर आपको आँखों के नंबर हैं तो उसके कारण भी सिर दर्द होता है

और कई लोगों को बाहर के शोर शराबे के कारण भी सिर दर्द होता हैं हमारे देश मे 70% से भी अधिक लोग सिरदर्द जैसी बीमारी से पीड़ित होते है।

सिरदर्द आम समस्या है लेकिन सिर की नसों में दर्द होना एक गंभीर समस्या भी माना जाता इसका इलाज होना बेहद जरूरी है क्योंकि यह समस्या आपके दिमांग के लिए घातक हो सकती हैं।

अगर आपको लगातार नसों में सिरदर्द होता है तो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से सिर की नसों में दर्द क्यो होता हैं

उसके बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बताएगें साथ ही इस समस्या से निजात पाने के लिए कई कुछ दिलचस्प जानकारी के बारे में भी बताएगें।

 

सिर की नसों में दर्द क्यों होता है
सिर की नसों में दर्द क्यों होता है

 

सिर की नसों में दर्द क्यों होता है

जैसा कि हमने बताया सिरदर्द एक सामान्य समस्या है, लेकिन हर किसी को सिरदर्द की समस्या के कई कारण होते हैं

और सिरदर्द का इलाज भी साधारण है और कोई ऐसा व्यक्ति नही होगा जिनको सिरदर्द नही हुआ हो, क्योंकि सिरदर्द कई लोगों के लिए रेग्युलर समस्या रहती है तो कुछ लोगों को एलर्जी होती है

जैसा कि ट्रैफिक आवाजो और शोर शराबों की एलर्जी खाने पीने की एलर्जी ऐसी कई एलर्जी के कारण भी सिरदर्द हो सकता है

सिरदर्द के कई लक्षण है जिससे आप सिरदर्द की गंभीर समस्या का पता चलता है

एक बार फिरसे आपको बता दे अगर आपको रेग्युलर सिरदर्द होता है तो आपको उसका इलाज करवाना चाहिए

क्योंकि सर की समस्या को नजरअंदाज नही करना चाहिए यह समस्या गंभीर हो सकती है और अन्य बीमारी का कारण बनती हैं।

 

सिर की नसों में दर्द होना का लक्षण

हम सबके घर में सिरदर्द की दवाई होती ही और इसका सेवन करने के बाद सिरदर्द ठीक भी हो जाता है

लेकिन कुछ दर्द गंभीर माने जाते है इसका इलाज समय पर होना बेहद जरूरी होता है, नॉर्मल सिरदर्द और गंभीर समस्या के कई लक्षण होते हैं

उनमे से कॉमन लक्षण सभी को होता है सिर की नसों में दर्द और जभी आपको ऐसी समस्या होती हैं | जिसे आप को जरूर पढ़ लेना चाहिए

आप हमेशा यही सोचते होंगे कि सिर की नसों में दर्द क्यों होता है वैसे हमने कुछ मुख्य गंभीर लक्षण के बारे में नीचे जानकारी दी गई है।

1) बैचेनी होना : कई ऐसी बीमारी है जिनमे बैचनी एक कॉमन लक्षण होते हैं और बैचनी सिरदर्द में भी होती हैं यह ऐसा लक्षण है जो शरीर में किसी भी तरह की समस्या होने पर बैचेनी जैसे लक्षण पैदा होते है

लेकिन यह नसों में दर्द होने के कारण अक्सर ऐसे लक्षण देखने को मिलती हैं खासकर जब सिर की नसों में दर्द होता है तब भी यह लक्षण पाए जाते है।


2) नसों का फड़कना: आपने देखा होगा जभी आपको सिरदर्द होता है तब सिर की नसों को फडकने का महसूस होता है

अक्सर सिरदर्द होने पर नसे फड़कती है अगर आपको ऐसा लक्षण देखने को मिले तो आप इलाज जरूर करवाई क्योंकि यह आम समस्या नही है

यह आपके मानसिक संतुलन को प्रभावित कर रखती हैं इसलिए ऐसी समस्या होने पर डॉक्टर को जरूर दिखाए।


3) कमजोरी महसूस होना: बाकी बीमारियों की तरह सिरदर्द में भी कमजोर महसूस होती हैं

क्योंकि हार्मोन के कारण कभी ऐसे लक्षण देखने को मिलते है जब आप ट्रैफिक जैसी चीजो से हरोज गुजरते हैं उसके कारण आपके दिमांग में ध्वनि वातावरण के कारण आपके दिमांग में जरुरत से ज्यादा ध्वनि प्रदूषण हावी होते है

इस वजह से आपको ऐसी सिरदर्द होता है साथ ही कमजोर महसूस होती हैं।


वैसे यह मुख्य लक्षण सिरदर्द के लिए गंभीर माने जाते है और आपको एक महत्वपूर्ण बात बता दें यह लक्षण सिरदर्द के दौरान ही ज्यादा देखने को।मिलते है। इसके अलावा कई लक्षण हैं जो काफी नॉर्मल होते है।

 

सिर की नसों में दर्द से बचने के उपाय

किसी भी साधारण और गंभीर बीमारी बिना कारण नही होती और उसमें हमारी जिम्मेदारी होती हैं अगर आप स्वास्थ्य का बेहतर खयाल रखते है तो आपके शरीर में बहुत कम बीमारी देखने को मिलेंगी

लेकिन आज हर कोई व्यक्ति लापरवाही करता है, खानपान में भी सावधानी ही नहीं है बरतते और फिर बीमारी का सामना करना पड़ता है

वैसे हम आपको सिर की नसों मव क्यो दर्द होता है जैसे सवाल कभी आपके मन मे न आए उसके लिए इस बीमारी से बचने के लिए नीचे कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी है। जिसे जरूर पढ़ लीजिये

 

1) पौष्टिक भोजन : अगर आप ताजा और गर्म पौष्टिक भोजन का लगातार सेवन करते हैं तो आपको सिरदर्द जैसी समस्या बहुत कम देखने को मिलती हैं

साथ ही आपको बता दें हरोज प्रोटीन यक्त भोजन ही खाना चाहिए क्योंकि प्रोटीन खाने से आपके शरीर मे स्वस्थ रहता है और जरूरी ऊर्जा मिलती हैं जिसके कारण सिरदर्द के अलावा अन्य बीमारी भी नही होती।


2) समय पर भोजन करना: आज के भाग दौर से भरी जिंदगी में हर कोई समय पर भोजन करना भूल जाता है ऐसे सिरदर्द जैसी समस्या हो सकती है

अगर आप सिरदर्द जैसी समस्या से बचना चाहते है तो आपको समय और खाना लेना चाहिए क्योंकि ऐसा नही करने से आपके शरीर मे पोषण तत्व की कमी हो जाती हैं

जिसके असर सीधा सिर पर पड़ता है और सिरदर्द जैसी बीमारी का कारण बनता है वैसे हमने आपको सिर की नसों में दर्द क्यों होता है उसके बारे में विस्तार से जानकारी बताए आगे हम आपको इस समस्या से जुड़ी ओर भी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बताने जा रहे है।


3) नशीले प्रदार्थ का सेवन करना :अगर आपको किसी नशीली चीजो का सेवन करते हैं या आदत है जैसे कि सिगरेट, शराब तम्बाकू अन्य नशीली प्रदार्थ का सेवन करने से सिर की नसों में दर्द हो सकता है

और इस नशीली चीजो के कारण होने वाले सिरदर्द को नजरअंदाज नही करना चाहिए आपको डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए और नशीली चीजो के सेवन से परहेज करनी चाहिए।

 

सिरदर्द के घरेलू उपाय – Sir Dard ke Gharelu Upay

सिरदर्द के लिए कई लोग घरेलू उपाय आजमाते है, और यह कई फायदेमंद भी होता है

लेकिन अगर आपको घरेलू उपाय के बावजूद समस्या हल नही होती तो तुरंत डॉक्टर को दिखानी चाहिए, हमने देखा है कई लोग डॉक्टर को दिखाने में लापरवाही बरतने का काम करते है

जैसे कि वह बार बार घरेलू नुस्खे आजमाते है लेकिन समस्या ठीक नही होती और घरेलू उपाय करते रहते है

वैसे आपको बता दें सिरदर्द बड़ी बीमारी नही है यह साधारण घरेलू उपाय से भी ठीक हो जाती है

लेकिन अगर सिरदर्द की समस्या लगातार होती है तो फिर आपको डॉक्टर को दिखाने की जरूरत पड़ती हैं

ऐसे में सिर दर्द से जुडी समस्या को लेकर अक्सर लोगो को लगता है सिर की नसों में दर्द क्यों होता है यह इसलिए होता है

क्योंकि अगर आप समय पर खाना नही खाते या पूरा दिन शोर शराबों के बीच रहते है इस वजह से भी सिरदर्द जैसी समस्या होना आम है।

अगर आप सिरदर्द जैसी समस्या से पीड़ित हैं तो हमने नीचे कुछ घरेलू उपाय दिए हैं जिसके द्वारा आप सिरदर्द की समस्या से निजात पा सकते है।

  • नींबू पानी: नींबू स्वास्थ्य के किए काफी फायदेमंद है अगर आपको सिरदर्द होता है तो आपको नींबू पानी पीना चाहिए जिससे कुछ समय मे आपका सिरदर्द गायब हो जाएगा। नींबू पानी का आपको दिन में तीन बार पीना चाहिए ,आपको बता दें नींबू में पोषक तत्व और विटामिन भरपूर होते है जो गंभीर बीमारी से लड़ने में मदद करते हैं

  • अच्छी नींद: नींद न होना सिरदर्द का सबसे मुख्य कारण माना जाता है क्योंकि जब आप पूरी नींद नही करते हैं तो आपको सिरदर्द की समस्या हो सकती है इसलिए आपको पूरी नींद करनी चाहिए ताकि शरीर को पूरा आराम मील और शरीर के अंदर रहे स्नायु तंदुरुस्त रहे जिनके कारण आपको सिरदर्द जैसी समस्या न हो।

  • अदरक और पानी:अदरक पावडर को पानी मे।उबालकर पीने से सिरदर्द गायब हो जाता है क्योंकि अदरक मव ऐसी तत्व मौजूद होते हैं जो गंभीर सिरदर्द को ठीक करने में मदद मिलती हैं वैसे आप अदरक वाली चाय भी पी सकते है अदरक वाली चाय दिन में दो बार पीने से गंभीर सिरदर्द भी ठीक हो जाता है।

  • तुलसी: ग्लास पानी मे पाच तुसली की पत्तियों को उबाले,और उसे आधा ग्लास पानी होने तक उबालकर रखे, उसके बाद आप उसे बिना कुछ मिलाए पी लें, साथ ही आप चाय में भी तुसली के पत्ते डालकर पी सकते है जो काफी लाभदायक माना जाता हैं। तुलसी मासपेशियों को आराम दिलाती हैं इसलिए सिरदर्द के किए काफी लाभदायक है।

 

सिर दर्द के प्रकार – Sir Dard ke Prakar

जैसा कि हमने बताया सिर दर्द होने के कई कारण होते है, वैसे सिरदर्द के कई प्रकार भी है अगर आपको कोनसा सिरदर्द हुआ है उसके बारे में जानना भी आपके लिए बेहद जरूरी है

साथ ही यही भी सवाल मन मे आता होगा कि सिर की नसों में दर्द क्यों होता है तो इसका जवाब भी आपको इस आर्टिकल में आगे आपको मिल जाएगा।

सिर दर्द के प्रकार उनके लक्षणों पर निर्भर है हमारे मस्तिष्क कई मांसपेशिया होती है और यह मासपेशिया काफी नाजुक होती है

अगर किसी चीज को लेकर इन मासपेशियों पर प्रभाव पड़ता है तो सिरदर्द होना तय है प्रभाव यानीके ज्यादा शोर शराबा, किसी एलर्जी, बैचेनी, नींद नही आना ऐसी चीजों के कारण मांसपेशियों पर प्रभाव पड़ता है चलिए आपको सिरदर्द के मुख्य प्रकार के बारे में बताते हैं।

 

  • तनाव सिरदर्द

तनाव दर्द हमारे जीवनशैली के दौरान होने वाली आम समस्या है जिसे हम सीधे तौर पर तनाव के कारण होने वाले दर्द को तनाव दर्द कहते है।

यह सिर के पिछले हिस्से में होता है और सिर के आधे भाग में होता है जभी आपको तनाव दर्द हो आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि यह दर्द आसानी से ठीक नही होता।


  • सूजी हुई लसीका ग्रंथियां

ग्रंथियों की सूजन के कारण होने वाला दर्द गंभीर माना जाता है यह लिम्फ नोड्स की सूजन के कारण होता है और यह सिरदर्द अगर आप समय पर इलाज नही करवाते तो यह सिरदर्द का यह प्रकार देखने को मिलता है। यह दर्द एक तरह का ग्रंथियों के इंफेक्शन के कारण होता है।


  • दिमागी बुखार

तेज बुखार के दौराम सिर के पिछले और दाई तरफ दर्द होता है साथ ही काम के पास हल्का दर्द महसूस होता है यह दर्द आमतौर पर बुखार के समय ही होता हैं

आपको बता दें अगर आपको बुखार के दौरान सिरदर्द का अनुभव होता है तो आपको अपने डॉक्टर को सिरदर्द के लक्षण के बारे में बताना चाहिए ताकि वह आपके सिरदर्द का सटीक इलाज कर सके।


  • ब्रेन ट्यूमर

ब्रेन ट्यूमर में आपको सिर के पिछले हिस्से में हल्के दर्द महसूस होते है और ब्रेन की नसों में दर्द होने का महसूस होता है और सिर की नसों में दर्द क्यों होता है

ऐसा सवाल आपके मन मे आता होगा यह दर्द अक्सर लोगो को लंबे समय तक रहता है या कुछ ही घंटो में ठीक हो जाता है यह दर्द आपकी बॉडी की तासीर पर निर्भर करता है।


ऐसे कई प्रकार है सिरदर्द के कुछ गंभीर लक्षणों भी पाए जाते हैं तो कुछ साधरण लक्षण देखने को मिलते है आप सब जानते हैं आज हर कोई घंटो तक ऑफिस में काम करता रहता है

साथ ही लगातार कॉम्प्यूटर और मोबाइल में देखते रहते हैं इस वजह से कई लोगों के लिए सिरदर्द होना आम बात है

और तनाव और काम के कारण होने वाला सिरदर्द आराम करते ही ठीक हो जाता है लेकिन कुछ ऐसे सिरदर्द होते हैं जिससे ठीक करने के लिए आपको डॉक्टर के इलाज की जरूरत पड़ती हैं।

और एक महत्वपूर्ण बात आपको बता दें अगर आपको सिरदर्द होता है और गंभीर लक्षण महसूस होते हैं जैसे कि नसों में दर्द हल्के झटके महसूस होना ऐसे कई गंभीर लक्षण होते हैं जिसका पता चलते ही आपको अपने डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

 

सिर की नसों में होने वाले दर्द के कारण

जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि सिरदर्द बिना कारण नही होता है और सिरदर्द हमारी लापरवाही से भी होता है और सिरदर्द के पीछे डिजिटल दुनिया का काफी बड़ा हाथ है

आज के इस डिजिटल दौर में लोग घंटो तक और बाकी चीजो में बिताते हैं जिसके कारण सिरदर्द समस्या होनी आम बात है

अगर आप आपकी जीवनशैली में कुछ चीजो को ध्यान में रखते है और लापरवाही नही बरतते तो आपको बहुत कम बीमारी होती हैं। वैसे हमने सिर की नसों में होने वाले दर्द के बारे में कुछ जानकारी नीचे दिए हैं।

  • मोबाइल/कॉम्प्यूटर का इस्तेमाल

आज हर किसी के पास स्मार्टफोन है और लोग जरूरत से ज्यादा मोबाइल और कम्प्यूटर का इस्तेमाल करते है

आपको बता दें मोबाइल की डिस्प्ले से निकलने वाला प्रकाश आपकी आँखों को नुकसान पहुचाने का काम करता है और कही बार इसका सीधा असर दिमांग पर पड़ता है मोबाइल कॉम्प्यूटर के कारण होने वाले सिरदर्द अक्सर सिर के नसों में होता है

अगर आपको सिर के नसों में होने वाले दर्द से बचना है जरूरत से ज्यादा मोबाइल और कॉम्प्यूटर का इस्तेमाल नही करना चाहिए।

  • विटामिन की कमी

आजकल लोग ऐसे भोजन और खानेपीने की चीजो का सेवन करते हैं  कि अक्सर लोगो मे विटामिन की कमी होने लगती है

जिसके कारण सिरदर्द और कमजोरी होती है इसके अलावा कई बीमारियां भी होती है विटामिन की कमी के कारण सिर की नसों में दर्द होता है जो काफी गंभीर माना जाता है

अगर आपको ऐसी बीमारी से बचना है तो आपको विटामिन वाले भोजन और खानपान का सेवन करना होगा अब आपको सिर की नसों में दर्द क्यों होता है? इस सवाल का जवाब आपको मिल गया होगा।

  • स्ट्रोक

जैसा कि आप जानते हैं स्ट्रोक एक गंभीर बीमारी है जिससे हम दिमांग का दौरा भी कहते है स्ट्रोक जैसी बीमारी में अक्सर सिरदर्द होता है और यह सिरदर्द आम सिरदर्द से काफी अलग होता है

जिनमे मस्तिष्क के नसों मे दर्द महसूस होता है और नसे फड़फड़ाने लगती है स्ट्रोक जैसी बीमारी में मस्तिष्क की ग्रंथि प्रभावित होती हैं जिससे ब्रेन ट्यूमर और सिरदर्द जैसी बीमारी अक्सर होती हैं।

स्ट्रोक एक ऐसी बीमारी है जो अचानक डिमांगी दौरा पड़ता है उस दौरे के बाद सिरदर्द लगातार रहता है और इस बीमारी को ठीक करने के लिए डॉक्टर मरीज़ को लगातार दवाओं सेवन करने की सलाह देते है।

 

माइग्रेन सिरदर्द क्या है

माइग्रेन सिरदर्द का प्रकार है वैसे यह दर्द नॉर्मल सिरदर्द से काफी कष्टदायी होता है यह दर्द जभी होता है आपको सख्त आराम की जरूरत पड़ती हैं

और कहि बार आराम करने के बावजूद जल्द ठीक नही होता यह दर्द ज्यादातर सिर के दाएं या बाए तरफ होता है और दर्द में सिर की नसें फडकने का अहसास होता है साथ ही दर्द के झटके भी महसूस होते हैं

आपको बता दें माइग्रेन ज्यादातर बहार घूमने वाले लोग और लगातार ऑफिस में काम करने वाले लोगों को अधिक होता है साथ ही टेंशन के कारण भी माइग्रेन सिरदर्द होता हैं

अगर आपको सीधे तौर पर बताये तो माइग्रेन उसे कहते है जो सिर के आधे हिस्से में सिरदर्द होता है इसमे लगातार दर्द रहता है दवा के सवेन के बाद भी ठीक होने में समय लगता हैं

वैसे आज के समय मे माइग्रेन जैसी समस्या काफी बढ़ गई हैं पूरे देश मे लाखो की तादाद में लोग माइग्रेन जैसी समस्या से पीड़ित हैं।

 

हारमोन सिरदर्द

यह दर्द अक्सर महिलाओं में ज्यादा होता है क्योंकि हम सब जानते है महिलाओं में हार्मोन उत्पन्न होने की संभावना अधिक होती है

और इसके कारण ही हारमोन सिरदर्द होता हैं  हारमोन दर्द महिलाओं को पीरियड के दौरान अक्सर होता हैं साथ ही गर्भनिरोधक गोली का सेवन करने वाली महिलाओं में भी हारमोन सिरदर्द होने की संभावना अधिक होती हैं।

हर दश में से चार महिला पीरियड के दौरान हारमोन सिरदर्द से पीड़ित होती हैं और अगर आप महिला है तो आपको पीरियड से पहले पौष्टिक आहार और प्रोटीन से भरपूर खानपान का सेवन करना होगा जो आपको पीरियड के दौरान होने वाले हारमोन सिरदर्द  बच सकते है।

और अगर आपको पीरियड के दौरान हारमोन सिरदर्द होता है तो आप अदरक वाली चाय पी सकते है जिससे आपको काफी आराम मिलेगा।

 

नसों में दर्द क्या जोखिम कारक होते हैं ? 

अगर आपको लगातार सिरदर्द होता है और घरेलू उपाय से भी ठीक नही हो रहा है तो आपको सर्जन डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि यह गंभीर बीमारी का कारण बन सकता है

आपको बता दें कई सिरदर्द मस्तिष्क के ग्रंथियों को नुकसान पहुँचाता है और अगर इसका समय और इलाज नही करवाया गया तो आपकी जीवनशैली के लिए काफी खतनाक साबित हो सकता है हालांकि सभी सिरदर्द गंभीर नही होते लेकिन आपको इसको नजरअंदाज नही करना चाहिए।

 

डॉक्टर को कब दिखाना बेहद जरूरी

सिर की नसों में दर्द क्यो होता है? और इसकी वजह के बारे में हमने पूरे विस्तार से जानकारी दी लेकिन सब के मन मे एक सवाल जरुर आता है कि सिरदर्द होने पर कब डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि कुछ सिरदर्द खतनाक साबित हो सकते है

इसलिए आपको इस मामले में लापरवाही कभी नही करनी चाहिए बल्कि समय पर डॉक्टर को दिखाना चाहिए कुछ लोग डॉक्टर को नही दिखाते और मेडिकल स्टोरी से कोई भी दवाओ का सेवन कर लेते है

यह कही बार शरीर के लिए नुकसानदेह माना जाता है वैसे हमने कुछ लक्षण नीचे दिए हैं ऐसा लक्षण पता चलने पर डॉक्टर को ज़रूर दिखाए

  • माइग्रेन सिरदर्द होने पर
  • नसों के फड़फड़ाने का मशहूर होने पर
  • नसों में तेज दर्द होने पर
  • लगातार सिरदर्द
  • आँखों मे जलन और साथ ही सिरदर्द
  • बुखार और सिरदर्द

FAQs – Sir ki Naso me Dard Kyo Hota Hai

सवाल : सिर की नसें में क्यो दर्द होता हैं

दिमांग की मांसपेशियां कमजोर होने पर सिर की नसों में दर्द होता है।

सवाल : सिर की नसों में दर्द होने पर क्या करना चाहिए

चाय, सब्‍जी या दूध में हल्‍दी मिलाकर सेवन करना चाहिए इसमें एंटी-ऑक्‍सीडेटिव, एंटी-इंफ्लामेट्री गुण होते है।

सवाल : हरोज सिर दर्द क्यों होता है

माइग्रेन के कारण आपको हरोज सिरदर्द होने की संभावना अधिक होती हैं।

सवाल : कब डॉक्टर को दिखाना चाहिए

लगातार सिरदर्द होने पर डॉक्टर को जरूर  दिखाना चाहिए।

सवाल : सिरदर्द को कब  गंभीर समस्या मानी जाती हैं

बुखार, और गंभीर बीमारी के साथ होने वाले सिरदर्द को गंभीर समस्या मानी जाती हैं।

 

Disclaimer

इस लेख में दी गई जानकारी विभिन्न विशेषज्ञों के अध्ययन और राय के साथ-साथ आम आदमी के स्वास्थ्य पर आधारित है। इस जानकारी को देने का उद्देश्य विषय से परिचित होना है। पाठकों को अपने स्वास्थ्य के आधार पर कोई भी निर्णय लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

 

Conclusion

हमें उम्मीद है कि अब आपको सिर की नसों में दर्द क्यों होता है के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी मिल गई होगी। कृपया इस लेख को अपने दोस्तों, परिवार और रिश्तेदारों के साथ साझा करें यदि आपको लगता है कि यह उनके लिए उपयोगी होगा।

यदि आपके पास आज के ब्लॉग पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न हैं, तो कृपया उन्हें नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में पूछें, और हम जल्द से जल्द जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे। तब तक Patakare.in को फॉलो करते रहें

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!