बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय – Bar Bar Peshab Aana aur Jalan Hona

बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय: पेशाब की समस्या हर किसी को हो सकती है और यह समस्या आम बीमारी की तरह ही नॉर्मल मानी जाती है लेकिन इस समस्या बढ़ने पर इसका इलाज करवाना बेहद जरूरी है।

कई लोगों को लगता है बार बार पेशाब आना और जलन होना यह समस्या ज्यादा पानी पीने से होती हैं। लेकिन आपको बता दें लोगों को नार्मल दिन में कम से कम पांच बार या उससे ज्यादा पेशाब आता है।

लेकिन अगर पेशाब के साथ जलन महसूस होती है या दर्द होता है तो इसका इलाज करवाना चाहिए क्योंकि यह छोटी सी समस्या गंभीर बीमारी का कारण बन सकती है।

आपको इस आर्टिकल में पेशाब से जुड़ी समस्याएं और बार बार पेशाब आना और जलन होने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए कुछ घरेलू उपाय और महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में बताने की कोशिश करेंगे जिसका आप को वर्तमान तथा भविष्य में जरूर फायदा होगा

 

अनुक्रम

बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय

 

बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय
 Bar Bar Peshab Aana aur Jalan Hona

 

पेशाब रोग के लक्षण – Peshab rog ke lakshan

पेशाब में जलन होना,पेशाब करते समय दर्द होना, या पेशाब बंद हो जाना ऐसे कई पेशाब के रोग के लक्षण माने जाते हैं। लेकिन पेशाब में जलन होने की ज्यादातर लोगों को समस्या होती हैं।

पेशाब रोग ज्यादातर दूषित पानी, कई अन्य गलत भोजन का सेवन करने या इन्फेक्शन से होनी वाली बीमारी है। पेशाब रोग के कुछ मुख्य लक्षण हमने नीचे दिए हैं।

  • दिन में ज्यादा से ज्यादा पेशाब आना
  • जांघ के अंदरूनी हिस्सो में दर्द होना या खुजली होना।
  • पेट दर्द और बुखार
  • उल्टी और कमजोरी महसूस होना
  • योनी में खुजली और दर्द होना
  • योनी में दर्द होना
  • योनी में जलन
  • बार बार पेशाब करने का मन करना।
  • ज्यादा प्यास लगना।
  • मूत्राशय में इंफेक्शन होना या मूत्राशय में सूजन।
  • तेज बुखार
  • पेशाब करते समय हल्का या ज्यादा दर्द हो जलन होना।

 

इसके अलावा कई अन्य साधारण हो गंभीर लक्षण देखने को मिलते है। दोस्तों कभी भी पेशाब की समस्या हो या हमने बताए गए लक्षण देखने को मिले तो तुरंत इसका इलाज करवाए क्योंकि पेशाब की समस्या आपकी जीवनशैली में काफी बड़ा प्रभाव डाल सकती है।

 

पेशाब में जलन का तुरंत इलाज – Peshab me jalan ka ilaj

पेशाब में जलन तब होती है जब पेशाब संबंधित बीमारी होती है और यह पेशाब की बीमारी होने का एक संकेत है जभी ऐसा संकेत हो तुरंत इलाज करवाना चाहिए।

पेशाब में जलन का तुरंत इलाज नॉर्मल और काफी साधारण इलाज है। अगर आप डॉक्टर के पास जाना नही चाहते तो घर पर इसका इलाज घरेलू उपाय के माध्यम से कर सकते हैं और आसानी से इस समस्या को ठीक कर सकते हैं।

लेकिन अगर समस्या आपको कई दिनों से है तो फिर आपको डॉक्टर को दिखाना चाहिए। हमने नीचे पेशाब में जलन होने की समस्या के तुरंत इलाज के बारे में बताया है।

  • पैशाब में जलन होने पर आप ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं, अगर फिर भी समस्या है तो फिर नींबू पानी और गर्म पानी का सेवन कीजिए।
  • पेशाब में होने वाली जलन को तुरंत ठीक करने के लिए आमतौर पर एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है। जो डॉक्टर द्वारा दिए जाती है। यह दवा तब डॉक्टर देते हैं जब आपको पेशाब का इंफेक्शन होता है। या पेशाब करते समय दर्द होता है।
  • पेशाब की समस्या नॉर्मल सकेंत से होती है जैसे कि जलन,ज्यादा से ज्यादा पेशाब आना ऐसी स्थिति में आप डॉक्टर की सलाह जरूर ले और हो सकते यो डॉक्टर से इलाज करवाना चाहिए।
  • पेशाब में होने वाले इंफेक्शन की जांच करनी चाहिए, या यूरिन रिपोर्ट के माध्यम से जड़ से पेशाब में होने वाली समस्या का इलाज किया जाता है।
  • पेशाब में होने वाली जलन को ठीक करने का तुरंत इलाज प्रोटीन युक्त लिक्विड या भोजन का सेवन करने से तुरंत आपको थोड़ी राहत मिलती है।

 

पेशाब में जलन की एलोपैथिक दवा – Peshab me jalan ka dawa

जैसा कि आप जानते हैं पेशाब की समस्या आज के समय मे हर किसी को होती हैं। और जब शरुआती दिनों में पेशाब की समस्या के साधारण लक्षण देखने को मिलते हैं तो कुछ लोग बार बार पेशाब आना और जलन  होना घरेलू उपाय के लिए कई तरह तरह के इलाज आजमाने है

फिर भी समस्या ठीक नही होती ऐसे में अगर आपको लंबे समय से पेशाब संबंधित समस्या है तो आप एलोपैथिक दवाओं द्वारा इस समस्या से छुटकारा पा सकते है।

आज के समय मे कई तरह की गंभीर बीमारियों के लिए एलोपैथिक दवाए काफी कारगर साबित हो रही हैं। साथ ही पेशाब की समस्या के लिए आप एलोपैथिक दवाओं से इलाज कर सकते है। हमने नीचे पेशाब में जलन की एलोपैथिक दवा के बारे में बताया है।

  • बेलाडोना 30 – belladonna 30

अगर आपको बार बार पेशाब आ रहा है या पेशाब में जलन हो रही हैं। तो आप बेलाडोना 30 का सेवन कर सकते है। यह पेशाब की समस्या के लिए काफी असरकारक एलोपैथिक दवा है।

यह दवा का उपयोग बिना डॉक्टर की सलाह के न करे क्योंकि इस दवा में डोज के कई प्रकार शामिल है। इसीलिए डॉक्टर आपकी बॉडी की तासीर के मुताबिक इस दवा का किस तरह से सेवन करना है

साथ ही दिन में कितनी बाद डोज लेना है उसके बारे में सही जानकारी देते है। बेलाडोना 30 जब आपको लंबे समय से पेशाब की समस्या है साथ ही पेशाब में जलन हो रही हैं तो यह दवा काफी लाभदायक होती हैं।

  • तेरेबिनथिना ओलेयम 6 – terebinthina oleum 6

यह एलोपैथिक दवा पेशाब की समस्या के लिए ज्यादातर सेवन की जाने वाली दवा है। यह दवा पेशाब के इंफेक्शन, जलन दर्द और योनी में जलन होना साथ खुजली जैसी समस्या होने पर डॉक्टर  तेरेबिनथिना ओलेयम 6 एलोपैथिक दवा सेवन करने का सुजाव देते है।

यह दवा दिन में तीन बार सेवन करने से दो दिन के अंदर पेशाब की गंभीर समस्या से राहत मिलती हैं। साथ ही काफी फायदेमंद है।

हालांकि इस दवा के दूसरे प्रकार नही है लेकिन डॉक्टर आपको इस दवा के साथ अन्य दवाओं का सेवन करने को कहते है और आप डॉक्टर के सलाह सूचन को ध्यान में रखते हुए इस दवा का सेवन करना चाहिए।

यह मुख्य एलोपैथिक दवा है जो ज्यादातर डॉक्टर आपको सेवन करने का सुजाव देते है। आपको बता दें अन्य एलोपैथिक दवाइयां भी है जो आपको सेवन करने का डॉक्टर कहेंगे।

अगर आप इस दवाओं को सीधा मेडिकल स्टोर से खरीदकर सेवन करते हैं तो काफी नुकसान कारक हो सकता है इसीलिए एलोपैथिक हो या होमियोपैथी बिना डॉक्टर की सलाह आपको किसी भी तरह की दवाओं का सेवन नही करना चाहिए।

 

पेशाब में जलन की आयुर्वेदिक दवा – Peshab mein jalan ki ayurvedic dawa

हर कोई पेशाब की समस्या से पीड़ित होता है। आज की हमारी भागदौड़ भरी जिंदगी में किसी के पास हॉस्पिटल जाने का समय नही है। ऐसे में जब बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय या आयुर्वेदिक दवाओं के जरिए इलाज करना उचित समझते हैं।

पेशाब में जलन होने पर आयुर्वेदिक दवाओं के बारे में हमने नीचे महत्वपूर्ण जानकारी दी है जिनका इस्तेमाल कर आप पेशाब की समस्या से निजात पा सकते है।

  • गिलोय – Giloy

यह कई तरह की बीमारियों के लिए उपयोग की जानी वाली आयुर्वेदिक औषधि है।

यह बीमारी व्यक्ति में इम्युनिटी पावर बढ़ाने में मदद करता है साथ ही कमजोरी, पेशाब की सभी समस्याओं के लिए काफी फायदेमंद है। गिलोय का काढ़ा बनाकर दिन में दो बार पीने से पेशाब की समस्या से निजात पा सकते है।

  • खस का ज्यूसpoppy seed juice

अगर पेशाब के दौरान ज्यादा जलन होती है या पेशाब करते समय दर्द होता है तो खस के ज्यूस का सेवन करना चाहिए, यह तासीर के तौर पर काफी ठंडा होता है और पेशाब की जलन के लिए काफी फायदेमंद है ।

इसका दिन में दो बार सेवन करना चाहिए साथ ही ज्यादा पानी पीने से पेशाब संबंधित समस्या से निजात पा सकते है।

  • धनिया पानी coriander water

धनिया कई बीमारियों के लिए फायदेमंद माना जाता है। घरेलू उपाय के लिए सबसे ज्यादा उपयोग किया जाता है। आपको बता दें जभी ज्यादा पेशाब दर्द और जलन होने पर आप धनिया पानी का आयुर्वेदिक उपाय अपनाकर इस समस्या से निजात पा सकते है।

धनिया में ऐसे गुण होते हैं जो पेशाब के इंफेक्शन को ठीक करता है। साथ ही पेशाब में जलन योनी इंफेक्शन और कई दूसरे प्रकार की पेशाब संबंधित समस्याओं के लिए काफी फायदेमंद है।

  • नींबूLemon

हमारे रोजाना जीवनशैली में उपयोग किया जाने वाला नींबू बीमारियों के लिए भी काफी फायदेमंद है। आपको बता दें नींबू में साइट्रिक एसिड होता है जो बैक्टीरिया को मारने में मदद करता है साथ ही एंटीवायरस गुण जो आपके पेशाब इंफेक्शन को ठीक करता है।

एक ग्लास  पानी में नींबू निचोड कर दिन में तीन बार पीने से पेशाब में होने वाली जलन और दर्द में काफी राहत मिलती हैं। साथ ही पेशाब की अन्य बीमारियों के लक्षणों को ठीक करता है। नींबू आप भोजन में भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • नारियल पानी – coconut water

नारियल में पाए जाने वाले पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होते है। और यह आसानी से बाजार में मिलने वाली चीजो में से एक है यह आमतौर रोजाना पीने से कई अन्य फायदे भी होते है लेकिन जब आपको पेशाब संबंधित समस्या होती है तो नारियल पानी पीना न भूलिए

क्योंकि यह पेशाब में होने वाली जलन दर्द इंफेक्शन साथ ही योनी में होने वाली अन्य समस्याओं के लिए काफी फायदेमंद है। पेशाब की समस्या होने पर आप दिन में कम से कम पांच बार नारियल पानी पीने से आपको सिर्फ तीन दिन मे राहत मिलती हैं।

  • इलाइची – cardamom

इलाइची का सभी घरों में उपस्थित होना आम बात है ऐसे में अगर आपको पेशाब में जलन या अन्य समस्या होती हैं तो आप इलाइची का सेवन कर पेशाब के इंफेक्शन और जलन को ठीक कर सकते हैं

इलाइची को दूध में उबालकर पीने से काफी फायदेमंद रहता है साथ ही आप इलाइची को कम ग्राम में लेकर दाँतो तले चबाकर खाएं

और बाद में गुनगुना पानी पीने से पेशाब में मौजूद दूषित तत्व को नष्ट करने में मदद मिलती है और पेशाब में होने वाली जलन और योनी के अंदरूनी हिस्सो में होने वाली खुजली में काफी राहत मिलती हैं।

 

यूरिन इन्फेक्शन में क्या नहीं खाना चाहिए – Urine infection in Hindi

यूरिन इन्फेक्शन के कारण कई बीमारियां होती हैं जैसे बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय करते हैं। जो कई फायदेमंद तो कई बार डॉक्टर के ईलाज की जरूरत पड़ती है

ऐसे में अगर देखा जाए तो पेशाब का इन्फेक्शन खाने पीने की चीजो से ही होता है। अगर आप भी यूरिन इन्फेक्शन से पीड़ित हैं तो हम आपको बताएंगे इस स्थिति में कैसी चीजों को पीने से परहेज करनी चाहिए और कैसा खाना नही खाना चाहिए।

  • एसिडिक फूलो नही खाना चाहिए

यूरिन इन्फेक्शन में अगर आपको साधारण लक्षण हैं तो विटामिन फूलो को खाना चाहिए अगर आप यूरिन इन्फेक्शन से पीड़ित हैं तो आपको एसिडिक फूलो को खाने से परहेज करना चाहिए। जैसे खट्टे फल संतरा,टमाटर, अंगूर और सेब जैसी चीजो से दूर रहना चाहिए।

  • तीखा और तला हुआ भोजन नही खाना चाहिए

यूरिन या पेशाब संबंधित किसी भी तरह की समस्या हो तो तीखा और तला हुआ खाना नही खाना चाहिए, क्योंकि यह इन्फेक्शन को रोकने के लिए दवाओं का असर कम कद देता है साथ ही ज्यादा तीखा भोजन खाने से योनी के अंदरूनी हिस्सो में जलन बढ़ सकती हैं।

  • कॉफी पीने से परहेज करें

आज के समय मे हर कोई ज्यादा से ज्यादा कॉफी पीते हैं लेकिन ज्यादा कॉफी पीने पेशाब की अन्य कई समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि जलन,इन्फेक्शन और योनी की समस्या इसीलिए जभी किसी को यूरिन इन्फेक्शन होता है तो कॉफी बिल्कुल नही पीनी चाहिए।

ऐसे अन्य खाना है जो यूरिन इन्फ़ेक्सन में नही खाना चाहिए जैसे लिक्विड ड्रिंक हो गया,या शराब नही पीना चाहिए, इसके अलावा ज्यादा चीज़ वाला या ज्यादा नमकीन खाना नही खाना चाहिए।

 

प्रेगनेंसी में पेशाब में जलन होना – Pregnancy me peshab mein jalan

प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवस्था महिलाओं को कई तरह की समस्या होती हैं। और कई ऐसी समस्या है जो गर्भवस्था के दौरान देखने को मिलती हैं उनमें से एक पेशाब में होने वाली जलन भी शामिल है।

लेकिन अगर आपको प्रेगनेंसी के दौरान पेशाब में होने वाली जलन अगर लगातार रहती हैं तो आपको अपने डॉक्टर को तुरंत दिखाना चाहिए।

यह कही प्रेगनेंसी के दौरान काफी गंभीर समस्या पैदा कर रखती हैं यह समस्या क्यो होती है और प्रेगनेंसी के दौरान इस समस्या से कैसे निजात पा सकते है उसके बारे में हमने महत्वपूर्ण जानकारी दी है।

  • प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवती महिलाओं में कई बार पीनी की कमी हो जाती हैं जिसके कारण पेशाब में जलन होने की समस्या होती हैं।
  • कई बार गर्भवती महिलाएं पेशाब ज्यादा देर तक रोक कर रखते हैं इसलिए यह समस्या हो सकती हैं
  • प्रेगनेंसी के दौरान गर्भवस्था में हर महिलाओं को हार्मोनल में बदलाव देखने को मिलते है जिसके कारण कई बार यूरिन इन्फेक्शन और पेशाब में जलन और योनी के अंदरूनी हुस्सो में जलन और सूजन जैसी समस्या हो सकती हैं।
  • गर्भवस्था में ज्यादा तीखा और नमकीन खाने से पेशाब में जलन हो सकती है।
  • ज्यादा तला हुआ खाने से कही बार प्रेगनेंसी में गर्भवती महिलाओं को पेशाब में जलन होती हैं।

 

प्रेगनेंसी के दौरान पेशाब में होनेवाली जलन के उपाय – Peshab mein jalan ka upay

अगर प्रेगनेंसी के दौरान पेशाब संबंधित समस्या होती हैं जैसे पेशाब जलना, या बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय के अलावा अन्य टिप्स भी आप आजमाकर पेशाब में होने वाली जलन जैसी समस्या से निजात पा सकते है।

  • दही: प्रेगनेंसी के दौरान दही का सेवन करना काफी फायदेमंद रहता है ऐसे में अगर आपको पेशाब जलने की समस्या होती हैं तो आप दही का सेवन कर सकते है जो काफी लाभदायक होता है। इसका सेवन करने से आपको पेशाब करते समय होने वाली जलन और अन्य समस्या होने पर काफी राहत मिलती हैं।
  • खूब पानी पीएं: आप जानते ही होंगे कि गर्भवस्था में महिलाओं के लिए खूब सारा पानी पीना काफी फायदेमंद होता है क्योंकि यह सिर्फ गर्भवती महिला के लिए नही बल्कि उनके पेट मे पल रहे बच्चे के स्वस्थ विकास के लिए भी फायदेमंद रहता है। खूब पानी पीने से शरीर मे हानिकारक बैक्टीरियल पसीनों के साथ बाहर निकल जाते है। और पेशाब के होने वाले इन्फेक्शन से बचने में काफी मददगार साबित होता है।
  • यूरिन को न रोकना चाहिए: कई गर्भवती महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान बार बार पेशाब आता है ऐसे में अगर यूरिन आने और रोककर रखने से यूरिन इन्फेक्शन होने की संभावना बढ़ जाती हैं इसीलिए पेशाब आते हैं पास करना चाहिए। जिससे पेशाब की होनी बाकी समस्या से बचा जा सकता है।

 

बच्चों में पेशाब में जलन के घरेलू उपाय – Baccho me peshab mein jalan ka Gharelu upay

छोटे बच्चों को हमारे से ज्यादा कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है। बढ़ती उम्र के साथ कई गंभीर और साधारण बीमारिया होती है।

जो तुरंत ठीक हो जाती है तो कही बार ठीक होने में काफी समय लगता है। बच्चों में ज्यादातर पेशाब की समस्या होती हैं और उनमें यूटीआई के लक्षण देखने को मिकते जिसे हम साधारण भाषा मे यूरिन इन्फेक्शन कहते है।

बच्चों में पेशाब में जलन होने के कुछ घरेलू उपाय हमने निचे दिए हैं।

  • अनानास का ज्यूस:बच्चों में अगर पेशाब में जलन जैसी समस्या होती हैं तो उसे अनानास का ज्यूस देना चाहिए जिससे दूषित जीवाणु नष्ट कर मूत्रपथ के इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद मिलती हैं।
  • खीरे का रस : खीरे का रस बच्चों के लिए काफी लाभदायक माना जाता हैं। यह हानिकारक जीवाणु को खत्म करता है और पेशाब को स्वस्थ रखने में मदद करता है। इसके सेवन बच्चों के लिए अन्य फायदे भी होते है।
  • अजवाइन का पानी:अजवाइन का सेवन बच्चों के लिए पेशाब जैसी समस्या होने पर काफी कारगर माना जाता हैं। इनमे ऐसे गुण होते है जो पेट और पेशाब से संबंधित किसी भी समस्या को आसानी से ठीक करता है।

इसके अलावा अगर बच्चे में पेशाब में जलन जैसी समस्या होती हैं तो उन्हें दही,मूली के पत्ते,निम्बू और अन्य नीला शाकभाजी के भोजन देने चाहिए। बच्चों में पेशाब के इन्फेक्शन और जलन होना आम समस्या है लेकिन इसका इलाज करवाना भी बेहद जरूरी है।

 

पेशाब की बीमारी के प्रकार  (Types of urinary disease)

पेशाब की बीमारी आमतौर पर योनिमार्ग, योनी के अंदरूनी हिस्सो में जलन और यूरिन इन्फेक्शन से जुड़ी कई बीमारियां होती हैं। कई बीमारी का इलाज समय न होने पर गंभीर बीमारी का कारण बनती हैं।

जैसे पथरी एक यूरिन द्वारा संकेत देने वाली एक गंभीर बीमारी है जो पेशाब द्वारा होती हैं। लेकिन पेशाब की बीमारी के दो मुख्य प्रकार है जो हमने नीचे दिए हैं।

  • पाइलोनेफ्राइटिस (pyelonephritis)

पेशाब की इस बीमारी के प्रकार में किडनी द्वारा होने वाला एक गंभीर इन्फेक्शन है।

जिनमे पेशाब में ब्लड आना, जलन होना, तेज बुखार, और गर्भवती महिलाओं को यह इन्फेक्शन होने का खतरा अधिक रहता है। यह आम तौर पर योनी के अंदरूनी हिस्सो में साधारण लक्षण से शुरू होता है। इसका इलाज करवाना बेहद जरूरी होता है।

  • सिस्टाईटिस (cystitis)

यह एक तरह का इन्फेक्शन है जो मूत्राशय के अंदर या भीतर होता है।

यह हानिकारक बैक्टीरिया द्वारा होने वाला इन्फेक्शन माना जाता है। पेशाब की इस बीमारी में मूत्राशय में सूजन और यूरिन पास करते समय दर्द होता है साथ योनी के अंदरूनी हिस्सो में खुजली होती हैं साथ ही सूजन पेट दर्द और पेशाब रुककर आना इस प्रकार का लक्षण हैं


डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए

हमारे जीवन मे हम कई तरह की बीमारियों का सामना करते हैं भले ही आपको लगता है आप पूरी तरह से स्वास्थ्य है फिर भी रोजाना कई बीमारियों पीड़ित हैं साफ तौर से कहे तो काम का टेंशन और दिमांग में बहुत सारे कन्फ्यूजन ऐसे कई चीजें हैं जो एक तरह की बीमारी है

हम स्वास्थ्य तब होते हैं जब हम बिना दबाव और बिना किसी मानसिक परेशानियों से मुक्त रहते है।

ऐसे में अगर दोस्तो आपको पेशाब की किसी भी तरह किस समस्या होती हैं। तो बिना डॉक्टर को दिखाए इसको ठीक नही किया जाता हमने नीचे मुख्य कारण बताए हैं उस स्थिति में डॉक्टर के दिखाना चाहिए।

  • पेशाब में ब्लड आना
  • पेट के नीचे दर्द होना
  • पेशाब में लगातार जलन
  • योनी में सूजन या खुजली होना।
  • तेज बुखार
  • पेशाब करते समय दर्द होना
  • पेशाब रुककर आना
  • यूरिन इन्फेक्शन होना
  • पेशाब करते समय पेट दर्द

ऐसे कई साधारण लक्षण हैं जिसे पता चलने पर डॉक्टर को दिखाना चाहिए क्योंकि जब पेशाब की समस्या बढ़ जाती है तो उसे ठीक होने में थोड़ा समय लग सकता है और डॉक्टर द्वारा दी जाने वाली सूचना के मुताबिक आप अपना इलाज करवा सकते है।

 

Disclaimer

इस लेख में दी गई जानकारी विभिन्न विशेषज्ञों के अध्ययन और राय के साथ-साथ आम आदमी के स्वास्थ्य पर आधारित है। इस जानकारी को देने का उद्देश्य विषय से परिचित होना है। पाठकों को अपने स्वास्थ्य के आधार पर कोई भी निर्णय लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

 

Conclusion

इस लेख में आपने बार बार पेशाब आना और जलन होना घरेलू उपाय के बारे में जाना आशा करते है | आप Bar Bar Peshab Aana aur Jalan Hona जैसे महत्वपूर्ण विषय की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें।

और इस विषय संबंधित कोई भी सवाल आप के मन में होगा तो निचे कमेंट में बताये हम आप के कमेंट का जरूर जवाब देंगे | शुरू से अंत तक इस Article को Read करने के लिए आप सभी का तहेदिल से शुक्रिया…

 

Leave a Comment

error: Content is protected !!