ब्लैक फंगस के लक्षण क्या है | Black Fungus ke lakshan kya hai

ब्लैक फंगस के लक्षण : आज का हमारा विषय है एक ऐसी बीमारी से संबंधित रहने वाला है जो शायद आपने जरूर सुनी होगी या फिर हो सकता है वह बीमारी आपको भी हो।

इस बीमारी का नाम सुनते ही हमें सबसे पहले कोरोना वायरस की याद भी आ जाती है क्योंकि उस समय यह शब्द हमें बार-बार सुनने को मिलता था जो की है ब्लैक फंगस।

इससे संबंधित कई बार हमारे सामने कुछ ऐसी जानकारियां भी आती थी जिनको सुनकर हम इसकी जांच पड़ताल किए बिना ही उसको सच मान लेते थे और यह मान लेते थे कि इसका कोई भी इलाज नहीं है

और अगर एक बार यह किसी को हो जाए तो इसका अंतिम परिणाम एक ही है और वह है मौत,  परंतु ऐसा नहीं है,

आज हम Black Fungus बीमारी के बारे में वे सभी जानकारी आपके साथ साझा करने वाले हैं जो शायद इस लेख को पढ़ने से पहले आपको पता हो !

आज के इस लेख में हम जाने वाले हैं ब्लैक फंगस के क्या क्या लक्षण होते हैं और साथ ही हम अपना बचाव इस जानलेवा बीमारी से कैसे कर सकते हैं

इसके अलावा भी हम आज के इस लेख में कुछ ऐसी जानकारियां भी आपके साथ साझा करने वाले हैं जो शायद इस बीमारी में आपके बहुत ज्यादा काम के है और हो सकता है इससे आपको बहुत लाभ हो।

तो आइए शुरू करते हैं आज के हमारे इस ज्ञानवर्धक लेख को जिसकी जानकारियां हम आशा करते हैं आपको जरूर पसंद आएगी

 

Black Fungus ke lakshan kya hai
ब्लैक फंगस ( Black Fungus) के लक्षण इन हिंदी

 

ब्लैक फंगस के लक्षण क्या है – Black Fungus ke lakshan kya hai

अगर हमें कोई भी बीमारी होती है तो सबसे पहले हमें उस बीमारी के लक्षण नजर आते हैं और इन्हीं लक्षणों के आधार पर ही हम उस बीमारी का इलाज भी लेते हैं और डॉक्टर को अपनी जांच भी करवाते हैं।

अगर हमें किसी भी बीमारी से पूर्णता स्वस्थ होना है तो हमें उसकी लक्षणों की जांच करना बेहद आवश्यक है क्योंकि बिना लक्षणों के उसका इलाज लेना भी असंभव होता है।

अतः जिस प्रकार से हर बीमारी का अपना कोई ना कोई लक्षण होता है उसी प्रकार से इस जानलेवा बीमारी ब्लैक फंगस लक्षण है और अगर आपको यह लक्षण दिखाई दें तो आपको तुरंत प्रभाव से अपनी जांच किसी अच्छे डॉक्टर से करवानी चाहिए।

 

अब हम देखते हैं कि वह कौन से लक्षण है जो हमें यह बीमारी होने पर दिखाई देते हैं तो वह लक्षण अधोलिखित हैं।

1) अगर हम इस ब्लैक फंगस के पहले लक्षण की बात करें जो कि सबसे महत्वपूर्ण हैं तो यह बीमारी होने पर आपको आंखों के आगे मकड़ी के जालों के समान जाले दिखाई देते हैं और आपके आंखों में सूजन पैदा हो जाती हैं।

अब आप में से कई लोग यह सोच रहे होंगे कि यह आंखों की सूजन अन्य किसी कारण भी तो हो सकती हैं

परंतु फिर भी यदि वर्तमान दौर में आपको ऐसी किसी भी प्रकार की शिकायत होती हैं तो आपको तुरंत ही डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए

क्योंकि यही ब्लैक फंगस के प्रारंभिक लक्षण होते हैं और इस स्थिति में ही इसका इलाज संभव होता है क्योंकि इससे ज्यादा बढ़ने पर कई बार मरीज की मौत तक भी हो सकती हैं।


2) इस ब्लैक फंगस का दूसरा लक्षण यह है कि आपको अपने चेहरे पर भी थोड़ी सी सूजन दिखाई देगी और खास तौर पर आपकी नाक के आसपास के हिस्सों पर भी आपको सूजन दिखाई देगी

जो कि इस ब्लैक फंगस का लक्षण हो सकती है अत आपको ऐसी परिस्थिति में भी किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।


3) आपके सर में काफी भयानक दर्द होता है और आपको हर समय सर दर्द की शिकायत बनी रहती हैं

क्योंकि यह आंखों के माध्यम से आपके मस्तिष्क तक भी पहुंच जाता है जिसकी वजह से आपको सिर दर्द की समस्या भी रहती हैं।

अगर आपको सामान्य तौर पर सिर दर्द ना होकर इस प्रकार के सिर दर्द की समस्या लगातार बनी रहती है तो भी आपको किसी अच्छे से डॉक्टर से संपर्क कर यह जरूर जान लेना चाहिए कि कहीं यह ब्लैक फंगस के लक्षण तो नहीं है।


4) आपकी आंखों में काफी हद तक लालिमा छा जाती है अर्थात कि आपकी आंखें लाल पड़ जाती हैं

और आपकी आंखों में से कई बार आंसू की तरह पानी भी टपकता है, और हम में से ज्यादातर लोगों द्वारा यही गलती की जाती है कि हम इसे एक सामान्य समस्या समझ कर इसे नकार देते हैं

और जब कि हो सकता है यह ब्लैक फंगस का ही लक्षण हो अतः हमें बिना कोई देर किए तुरंत ही एक अच्छे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए और उन्हें अपने लक्षणों को बताना चाहिए।


5) ब्लैक फंगस बीमारी होने पर आपके आंखों के नीचे की चमड़ी और खासकर आपके नाक के आसपास की चमड़ी बहुत ज्यादा काली पड़ जाती है

और यह चमड़ी पपड़ी बनकर उतरने भी लगती है, अतः यह भी इस ब्लैक फंगस का लक्षण हो सकती हैं


6) यह बीमारी होने पर हमें आंखें खोलने और बंद करने में भी काफी परेशानी होती है और हमें कई बार बहुत ही धुंधला दिखाई देता है

और इसका कारण भी है क्योंकि यह बीमारी होने पर हमारी आंखों में इस फंगस के जाले जम जाते हैं और इस कारण से हमें यह धुंधलापन होता है।


7) आपको आपके दातों के जबड़े में भी परेशानी होती हैं और उनमें बहुत ज्यादा दर्द भी रहता है क्योंकि यह फंगस धीरे-धीरे आंखों से होता हुआ हमारे संपूर्ण चेहरे तक भी फैल जाता है

अगर आपको ऐसी तकलीफ हो रही है तो आपको तुरंत प्रभाव से किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क कर अपनी जांच करानी चाहिए

और यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि कहीं यह इस ब्लैक फंगस बीमारी के लक्षण तो नहीं है क्योंकि अगर यह लक्षण आप में पाए जाते हैं तो यह इस बात के संकेत हैं कि यह बीमारी हमारे शरीर में बहुत ज्यादा फैल चुकी है परंतु इस समय भी इसका इलाज संभव है।


इसके अलावा भी इस ब्लैक फंगस बीमारी के कुछ अतिरिक्त लक्षण भी हो सकते हैं,जैसे कि

  • आपके दांतों में दर्द होना
  • आपको किसी प्रकार की खाने पीने की वस्तुओं को चबाने में दिक्कत होना
  • आप को उल्टी होना और उल्टी में भी आपको विशेष कर खून की उल्टी होना. इत्यादि

यह ब्लैक फंगस के लक्षण माने जा सकते हैं अतः आपको बिना कुछ देरी किए हुए एक अच्छे डॉक्टर से संपर्क कर अपना इलाज शुरू करा देना चाहिए।

 

ब्लैक फंगस का क्या इलाज है – Black fungus ka ilaj in Hindi

आज इस टेक्नोलॉजी के बढ़ते हुए युग में और साथ ही मेडिकल साइंस में हुई अभूतपूर्व प्रगति के माध्यम से आज लगभग हर बीमारी का इलाज संभव है और उसी प्रकार से इस ब्लैक फंगस का इलाज भी संभव है

तो अब हम देखने वाले हैं कि इस ब्लैक फंगस का इलाज हम किस प्रकार से और किन-किन माध्यमों द्वारा करा सकते हैं।

आमतौर पर डॉक्टरों द्वारा यह ब्लैक फंगस की बीमारी होने पर एंटीफंगल दवाओं को दिया जाता है क्योंकि यह सीधे ही उस फंगस पर अटैक करती है जो कि हमारे शरीर में ब्लैक फंगस का मुख्य कारण बना हुआ है

और इसके अलावा कई अन्य दबाव द्वारा भी इसका उपचार संभव है जिनके बारे में हम इस लेख में चर्चा करने वाले हैं

कई बार यह देखा जाता है कि अगर यह ब्लैक फंगस की बीमारी अपने प्रारंभिक चरण में हैं तो आई ड्रॉप द्वारा जोकि एंटीफंगल प्रकृति का होता है उसका भी इस्तेमाल किया जाता है

क्योंकि जैसा कि हम जानते हैं यह ब्लैक फंगस की बीमारी हमारे आंखों द्वारा ही हमारे साइनस और हमारे संपूर्ण चेहरे पर फैलती हैं इस कारण से इसे प्रारंभिक चरण में ही रोका जा सकता है।

 

ब्लैक फंगस का घरेलू उपचार

आमतौर पर इस भयानक बीमारी में घरेलू उपचार को उतना असरदार नहीं माना जाता है परंतु फिर भी यदि यह बीमारी आप के प्रारंभिक चरण में हैं तो आप इन घरेलू नुस्खा और घरेलू उपचार द्वारा इसका इलाज कर सकते हैं।

हमारे द्वारा फिर भी यही सलाह दी जाती है कि आपको यदि है Black fungus ki bimari हो गई है तो आपको सबसे पहले किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए

और यदि समस्या बहुत ज्यादा बड़ी हुई है तो इन घरेलू उपचार का प्रयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए

लेकिन फिर भी हम आपकी जानकारी के लिए यहां कुछ घरेलू नुस्खे और घरेलू उपचार आपके साथ साझा कर रहे हैं जो इस ब्लैक फंगस की बीमारी को दूर करने में आपके काम आएंगे।

आप ब्लैक फंगस के लिए हल्दी का प्रयोग एक घरेलू उपचार के लिए कर सकते हैं

और इसे कुछ गुनगुने पानी के साथ मिलाकर एक आई ड्रॉप की तरह अपनी आंखों के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे कि आपकी आंखों के आगे जमे हुए यह फंगस के जाले साफ हो जाएंगे।

इसके बचाव का एक और घरेलू उपचार यह है कि आप नीम के पत्तों को उबालकर उसका गाढ़ा पानी अलग से बर्तन में निकाल ले और ठंडा होने के पश्चात उससे अपनी आंखों को दो-तीन बार साफ करें

ऐसा करने पर भी आपको अपनी आंखों के आगे जो धुंधलापन दिखाई दे रहा है उससे निजात मिलेगी।

जैसा कि हम जानते हैं कि आप ब्लैक फंगस की बीमारी कोरोना वायरस के एक वैरीअंट की तरह ही फैल रही है,

अतः जिस प्रकार से हमने कोरोना वायरस के खिलाफ सबसे ज्यादा प्राथमिकता अपनी शरीर की इम्यूनिटी पावर को दी थी उसी प्रकार इस बीमारी में भी हमें अपने शरीर की इम्युनिटी पावर को बढ़ाने वाले तत्वों को ग्रहण करना चाहिए जो कि हमारे शरीर की इम्युनिटी पावर बढ़ाते हैं

अतः इस प्रकार यह कुछ सामान्य से घरेलू उपचार हैं जो आप ब्लैक फंगस की बीमारी होने पर इस्तेमाल कर सकते हैं

परंतु हम आपको एक बार और सलाह देते हैं कि इस प्रकार की जानलेवा बीमारी के लिए आप को सबसे पहली प्राथमिकता डॉक्टर को देनी चाहिए और उन्हीं के निर्देशानुसार अपना इलाज लेना चाहिए।

 

ब्लैक फंगस की दवा – Black fungus ki dawa

अब हम जानने वाले हैं कि यह ब्लैक फंगस की बीमारी होने पर हमें कौन-कौन सी दवाइयों का इस्तेमाल करना चाहिए और साथ ही हमारे डॉक्टरों द्वारा हमें कौन-कौन सी दवाइयां दी जाती है जब हमें यह ब्लैक फंगस की बीमारी हो जाती है।

  1. Posaconazile : यह दवाई MSN लैबोरेट्रीज द्वारा इस ब्लैक फंगस की बीमारी के लिए लांच की गई है जो कि बेहद ही असरकारक है।
  2. आई ड्रॉप : अगर आपको प्रारंभिक तौर पर इसके लक्षण दिखाई देते हैं तो कई बार आपको एंटीफंगल आई ड्रॉप भी दी जाती है जो कि इसमें असरकारक होती है।
  3. एंफोटेरिसन B : यह दवाई इस ब्लैक फंगस के लिए सर्वाधिक असरकारक मानी जाती हैं और आपने इसके बारे में सुना भी होगा कि कुछ महीनों पहले इस दवाई की किल्लत भी भारत में हो गई थी।
  4. एंटीफंगल टेबलेट : यह दवाइयां भी अलग-अलग कंपनियों द्वारा ब्लैक फंगस की बीमारी को रोकने के लिए बनाई गई है और आमतौर पर बहुत सारे डॉक्टरों द्वारा भी का सुझाव दिया जाता है।

 

अतः इस प्रकार से यह निम्नलिखित दवाइयां ब्लैक फंगस को रोकने के लिए काफी कारगर है

क्योंकि अभी तक इसे रोकने के लिए बहुत ज्यादा मात्रा में किसी भी प्रकार की दवाइयां उपलब्ध नहीं है

परंतु कई सारी कंपनियों द्वारा इसके इलाज की दवाइयों का निर्माण कार्य बहुत ही ज्यादा प्रगति पर चल रहा है और सरकार द्वारा भी इन कंपनियों को अनुमति प्रदान कर दी गई है

 

ब्लैक फंगस से बचने के आयुर्वेदिक उपाय – Black fungus treatment in Ayurveda

हजारों सालों से हम आयुर्वेद को इलाज का एक ऐसा माध्यम मानते आ रहे हैं जो कि अपना असर तो थोड़े समय बाद दिखाता है परंतु इसका असर हमेशा के लिए रहता है

और जब बात आती है ब्लैक फंगस की तो हमारे मन में यह सवाल उठता है कि क्या ब्लैक फंगस से बचने का भी कोई आयुर्वेदिक उपाय वर्तमान में उपस्थित हैं।

तो अब हम जाने वाले हैं कि क्या आयुर्वेदिक उपाय द्वारा भी ब्लैक फंगस का उपचार संभव है या नहीं।

अगर हम इस ब्लैक फंगस के आयुर्वेदिक उपचार की बात करें तो अभी तक इसका कोई भी आयुर्वेदिक इलाज उपस्थित नहीं है अत हमें किसी अच्छे डॉक्टर से ही इस बीमारी के इलाज के लिए संपर्क करना चाहिए

 

ब्लैक फंगस से बचाव के उपाय – Black fungus Rokne ke Upay

अगर हम यह चाहते हैं कि हमें कोई बीमारी लगे ही ना तो इसके लिए जो सबसे अनिवार्य शर्त यह है कि क्या हम उस बीमारी से बचाव के उपायों को ग्रहण कर रहे हैं

अर्थात की क्या हम वह सभी जानकारियां और वह सभी सावधानियों को बरत रहे हैं जो कि उस बीमारी से बचने के लिए आवश्यक हैं अगर हम ऐसा नहीं कर रहे हैं

तो हमारा उस बीमारी से बचना लगभग नामुमकिन है तो उसी प्रकार अगर हमें इस जानलेवा बीमारी ब्लैक फंगस से बचना है तो हमें कौन-कौन से बचाव के उपायों को अपनाना चाहिए ताकि हम इस बीमारी से बच सके।

 

1) जैसा कि हम जानते हैं कि यह ब्लैक फंगस की बीमारी कोरोना वायरस का ही एक परिणाम है

अतः इसकी पहली शर्त यह है कि हमें हमेशा अपने मुंह और नाक को ढक कर रखना चाहिए अर्थात कि हमें हमेशा ही मास्क का प्रयोग करना चाहिए और इसके साथ ही बहुत ज्यादा भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए।


2) कोरोना वायरस की तरह ही हमें अपने हाथों को समय-समय पर सैनिटाइजर से साफ करते रहना चाहिए

और अपनी आंखों पर हाथ लगाने से पहले हमें अपने हाथों को अच्छी प्रकार से सैनिटाइजर से साफ कर लेना चाहिए

क्योंकि यह बीमारी आंखों के द्वारा ही हमारे मस्तिष्क और हमारे संपूर्ण शरीर में फैलती हैं अतः जो सावधानियां हम कोरोना वायरस के खिलाफ रखते हैं उन्हीं सावधानियों को हमें इस ब्लैक फंगस की बीमारी में भी रखना चाहिए।


3) अगर आप एक मधुमेह के रोगी हैं यानी कि अगर आपको शुगर है तो आपको आपके शुगर को कंट्रोल रखना चाहिए

क्योंकि मधुमेह रोगी की इम्यूनिटी पावर बहुत ज्यादा कम होती हैं और इस कारण से यह ब्लैक फंगस की बीमारी होने की संभावना ऐसे रोगियों को बहुत ज्यादा बढ़ जाती हैं

अतः अगर आप एक शुगर के रोगी हैं तो जितना ज्यादा हो सके आप अपने शुगर को कंट्रोल रखें।


4) इसका सबसे बड़ा बचाव का उपाय यह है कि अगर आपको इस ब्लैक फंगस के शुरुआती लक्षण भी दिखाई देते हैं तो आपको इसे नजरअंदाज करने की बजाय किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए

और उनसे यह सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि जो लक्षण आपको दिखाई दे रहे हैं कहीं वह इस ब्लैक फंगस के तो नहीं है अगर यह लक्षण ब्लैक फंगस के हैं तो आपको तुरंत प्रभाव से अपना इलाज शुरू करा देना चाहिए।


5) जिस प्रकार से कोरोना वायरस में हमने अपने बचाव के लिए सबसे ज्यादा अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने पर जोर दिया था उसी प्रकार से हमें इस समय भी अपनी इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने पर जोर देना चाहिए और उन सभी वस्तुओं का सेवन करना चाहिए जो हमारे शरीर की इम्यूनिटी पावर को बढ़ाने का कार्य करती हैं।


6) इस ब्लैक फंगस की बीमारी से बचने का एक और उपाय जो कि सबसे महत्वपूर्ण है,

वह यह है कि आपको कोरोना वायरस के संपूर्ण वैक्सीन ग्रहण कर लेने हैं। यह आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के साथ-साथ ही आपको इस ब्लैक फंगस की बीमारी से बचने में भी सहयोग करेंगे।

तो इस प्रकार से यह वह प्रमुख उपाय हैं जिनका इस्तेमाल करके आप अपने आप को इस ब्लैक फंगस की बीमारी से बचा सकते हैं और साथ ही आप इस ब्लैक फंगस की बीमारी को हरा भी सकते हैं

 

ब्लैक फंगस ( Black fungus) बीमारी में डॉक्टर का सुझाव

जैसा कि हम जानते हैं कि हर बीमारी की जांच कराने के लिए जब हम डॉक्टर के पास जाते हैं तो वह हमें विभिन्न प्रकार के सुझाव देते हैं

और साथ ही हमें मुझे यह बताते हैं कि हमें इस बीमारी से बचने के लिए कौन-कौन से उपायों को अपनाना चाहिए और साथ ही वे यह भी बताते हैं कि वे कौन से कारण हैं जिनसे या बीमारी हो सकती हैं

उसी प्रकार इस ब्लैक फंगस की बीमारी से बचने के लिए डॉक्टर का सुझाव भी बेहद जरूरी होता है।

जैसा कि हमने आप सभी को शुरुआत में ही बताया था कि इतनी भयानक बीमारी को लेकर हमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए

और साथ ही तुरंत प्रभाव से हमें किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क कर इसका इलाज शुरू करा देना चाहिए ताकि हम अपने अमूल्य जीवन को इस बीमारी से बचा पाए।

 

FAQs  : Black fungus ke lakshan kya hote hain

सवाल : ब्लैक फंगस बीमारी का दूसरा नाम क्या है

हम जिस बीमारी को ब्लैक फंगस के नाम से जानते हैं उसका वास्तविक नाम mucurmicosis है

सवाल : ब्लैक फंगस का सबसे प्रमुख लक्षण क्या है

ब्लैक फंगस का सबसे प्रमुख लक्षण यह है कि यह बीमारी होने पर हमारी आंखें लाल हो जाती हैं और हमें साफ तौर पर नहीं दिखाई देता है अर्थात की हमारी आंखों के आगे धुंधलापन छा जाता है और हमें यह महसूस होता है जैसे कि हमारी आंखों में जाले जमे हुए हैं।

सवाल : क्या ब्लैक फंगस कोरोना वायरस ही हैं

नहीं, हम इस ब्लैक फंगस को कोरोना वायरस नहीं कह सकते क्योंकि यह कोरोना वायरस के बाद होने वाला एक फंगल इंफेक्शन है

सवाल : क्या ब्लैक फंगस से बचने का कोई आयुर्वेदिक उपाय हैं

नही, अभी तक ब्लैक फंगस से बचने का कोई भी  आयुर्वेदिक उपाय उपलब्ध नहीं है

सवाल : ब्लैक फंगस से बचने का सबसे प्रमुख उपाय क्या है

इस ब्लैक फंगस से बचने का सबसे प्रमुख उपाय यह है कि हमें अपने शरीर की इम्युनिटी पावर को बढ़ाना चाहिए और साथ ही हमें हाइजीन का विशेष ख्याल रखना चाहिए।

 

Disclaimer

इस लेख में दी गई जानकारी विभिन्न विशेषज्ञों के अध्ययन और राय के साथ-साथ आम आदमी के स्वास्थ्य पर आधारित है। इस जानकारी को देने का उद्देश्य विषय से परिचित होना है। पाठकों को अपने स्वास्थ्य के आधार पर कोई भी निर्णय लेने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Conclusion

इस लेख में आपने ब्लैक फंगस के लक्षण क्या है के बारे में जाना आशा करते है | आप Black Fungus ke lakshan kya hai जैसे महत्वपूर्ण विषय की पूरी जानकारी जान चुके होंगे।

आपको लगता है कि इसे दूसरे के साथ भी Share करना चाहिए तो इसे Social Media पर सबके साथ इसे Share अवश्य करें

हमारा यह लेख पसंद आया हो तो अपने अमूल्य सुझावों को हमारे सुझाव बॉक्स में जरूर लिखें ताकि आगे आने वाले समय में हम आपके लिए इसी प्रकार की सकारात्मक लेख लाते रहे और आपके ज्ञान में वृद्धि करते रहे। धन्यवाद

error: Content is protected !!