छाती के बीच में दर्द होना – Chati ke bich me dard hone ka karan

छाती के बीच में दर्द होना – मनुष्य के शरीर में आये दिन कोई न कोई बीमारी लगी ही रहती है जिसकी वजह से उसे अनेक प्रकार की दैनिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है बीमार होने की वजह से व्यक्ति के अनेकों काम अधूरे रह जाते हैं तथा आये दिन उसे अस्पताल के चक्कर लगाने पड़ जाते हैं

बिमारियां अनेक प्रकार की होती हैं कुछ बीमारियाँ फेफड़ों से संबंधित होती हैं जैसे लंग्स कैंसर आदि, तथा कुछ बीमारियाँ व्यक्ति के गुर्दे (किडनी) तथा ह्रदय से भी संबंधित होती हैं कुछ बीमारियाँ छोटी-मोटी होती है

जैसे जुखाम, बुखार, कभी-कभी सर दर्द आदि पर यदि आप इन छोटी बिमारियों को नज़रंदाज़ करते हैं तो आगे चलकर आपको कई प्रकार की और भी बिमारियों का सामना करना पड़ सकता है

जैसे यदि आप ज्यादा तक दिन हो रहे बुखार को नज़रअंदाज़ करते हैं तो आगे चल कर आपको डेंगू या टाइफाइड की समस्या हो सकती है इसी प्रकार यदि आपको काफी अधिक समय से सर में दर्द रहता है तो आपको माइग्रेन हो सकता है

इन्ही बिमारियों में से एक होता है छाती के बीच में दर्द होना, छाती या सीने का दर्द बहुत दुखदायक होता है तथा इसका दर्द चिंता का कारण बन सकता है सर्दियों के दिनों में छाती के दर्द की परेशानी बढ़ जाती है

छाती में दर्द के कारण अनेकों हो सकते हैं जिनके बारे में मरीजो को कुछ पता ही नहीं होता उन्हीं कारणों के बारे में हम आगे देखेंगे

हमारे आज के इस आर्टिकल में हम छाती के बीच में होने वाले दर्द के बारे में विस्तार से पढेंगे तथा छाती के दर्द के लक्षण, सीने या छाती के दर्द का परीक्षण, इसके दर्द का इलाज तथा इससे बचाव किस प्रकार किया जा सकता उन सभी के बारें में आवश्यक जानकारियां हम आपको आगे प्रदान करेंगे

इसलिए यदि आप छाती के दर्द के बारे में सारी जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारा पूरा आर्टिकल अवश्य पढ़ें जिससे कि आप भविषय में छाती के दर्द या सीने से संबंधित सारी बीमारियों से दूर रह सकें

 

Pain Between Brests in Hindi
Pain Between Brests in Hindi

 

अनुक्रम

छाती के बीच में दर्द होना – Chati Ke Beech Me Dard Hona

छाती में दर्द कई बार आम भी होता है पर जब भी किसी व्यक्ति को सीने के किसी भी हिस्से में दर्द होता है तो उसे ऐसा लगता है कि उसे ह्रदय से जुड़ा कोई रोग हो गया है तथा वे सोचते हैं कि यह हार्ट अटैक का संकेत है

लेकिन छाती के बीच में दर्द होना कई बार उतना गंभीर नहीं होता है जितना कि लोग सोच लेते हैं

परन्तु छाती या सीने के बीच में दर्द कई अन्य रोगों के कारण भी हो सकता है इसलिए कभी भी छाती के दर्द को नजरंदाज नहीं करना चाहिए

यदि किसी व्यक्ति को छाती  के बीच में यानी कि स्वासनली वाले हिस्से में दर्द है तो यह इसका कारण ह्रदय रोग नहीं है इस प्रकार का दर्द आहारनली में में एसिड आने की  वजह से होता है

जो कि मरीज के लेटने पर और अधिक बढ़ जाता है छाती के बीच में होने वाले दर्द को कभी भी जानबूझ कर या अनजाने में  भी नजर अंदाज़ न करें

छाती के दर्द का मूल्यांकन करते समय इसके बारे में आवश्यक जानकारियां आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकती हैं इसलिए यदि आपको छाती में  किसी भी प्रकार का दर्द है तो पहले जानने कि कोशिश करें कि वो दर्द किस कारण से है

यदि आपने इसके बारे में पढ़ रखा होगा या फिर आपको इसके बारे में थोड़ी सी भी जानकारी होंगी तो आप जल्द ही इससे छुटकारा पा सकते हैं या स्थिति गंभीर होने पर किसी विशेषज्ञ से भी संपर्क कर सकते  हैं

इतना पढने के बाद अब अगर आपसे कोई पूछे कि क्या होता है छाती के बीच में दर्द होना तो आप अब आसानी से इसके बारें में सामने वाले को समझा पाएँगे पर यदि आप छाती के दर्द के बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं तो हमारे आर्टिकल को आगे तक पूरा ज़रूर पढ़ें


छाती के बीच में दर्द के लक्षण – Chati Ke Beech Me Dard Ke Lakshan

छाती के बीच में दर्द के अनेक लक्षण हमारे द्वारा नीचे दिए गए हैं छाती के बीच में दर्द होना इसके बारे में और अच्छे से जानने के लिए इसके लक्षणों के बारे में भी अवश्य पढ़ें छाती में दर्द के लक्षण निम्न दिए गए हैं

  • छाती में चुभन या फिर खिंचाव का अनुभव होना
  • पसीना आना
  • धड़कन कम होना
  • छाती में भारीपन जैसा महसूस होना
  • घबराहट होना
  • उल्टी आना
  • कमजोरी महसूस होने लगना
  • चक्कर आना
  • भोजन निगलने में परेशानी होना
  • मुंह के स्वाद का बिगड़ जाना
  • बेचैनी जैसा महसूस होना
  • खांसी होने या गहरी सांस लेने पर पर दर्द का बढ़ जाना

छाती (सीने) के बीच में दर्द के कारण – Chati Ke Beech Me Dard Ke Karan

छाती के बीच में दर्द होना इसके बारे में पढने के बाद आपके मन में ये सवाल ज़रूर आया होगा कि छाती के बीच में दर्द क्यों होता है? तो यदि आपको छाती में अक्सर दर्द रहता है तो इसके अनेकों कारण हो सकते हैं

पर कारण कोई भी हो उसके बारे में पूरी तरह जानकारी प्राप्त करें तथा उससे बचाव करें या इस दर्द का इलाज़ कराये, छाती के बीच में दर्द होना इसके कारणों के बारे में आगे हम विस्तार से सब कुछ पढेंगे और उसे समझेंगे

 

1) पेट में गैस या एसिडिटी भी हो सकता है छाती के बीच में दर्द का एक कारण

छाती के बीच के हिस्से में दर्द होने का एक कारण एसिडिटी भी सकता है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि खाने की नली में एसिड आ जाता है जिससे सीने के बीचों बीच में दर्द महसूस होता है

छाती का यह दर्द पेट के उपरी हिस्से में भी हो सकता है ऐसी स्थिति में आपको छाती के बीच में तेज दर्द हो सकता है

अक्सर लोगों को जब सीने में दर्द होता है तो वो इसका कारण गैस या एसिडिटी को समझ लेते हैं पर ऐसा सोचना आपके लिए आगे चल कर बहुत घातक साबित हो सकता है विशेषज्ञों के अनुसार हर बार सीने का दर्द गैस या एसिडिटी के कारण ही नहीं होता है

कई बार ऐसा ह्रदय की धमनियों में रुकावट की वजह से भी हो सकता है ऐसे में छाती के बीच में होने वाले दर्द को यदि आप नज़रंदाज़ कर रहे हैं तो आपके लिए स्थिति बहुत जानलेवा हो सकती है इसलिए कभी भी किसी भी प्रकार के दर्द को नज़रअंदाज़ न करें तथा उसका समय पर इलाज कराएँ


2) गैस्ट्रो – ओओसोफेगल रिफ्लक्स रोग भी हो सकता है छाती के बीच में दर्द का कारण

गैस्ट्रो-ओओसोफेगल रिफ्लक्स की समस्या अधिकतर अधिक वजन वाले लोगों में देखने को मिलता है इस रोग में पेट में उत्पन्न एसिड भोजन नली में वापस आ जाता है गैस्ट्रो ओओसोफेगल रिफ्लक्स होने पर आपको छाती के बीच में दर्द, जलन और जकड़न भी महसूस हो सकती है

पेट और पाचन से जुडी समस्याओं के कारण भी आपको सीने के निचले हिस्से में दर्द का एहसास हो सकता है गैस्ट्रो-ओओसोफेगल रिफ्लक्स, एसोफेजल, हाइपरसेंसिटीविटी, पेप्टिक अल्सर आदि भी छाती में दर्द के कारन बन सकते हैं इसमें अलग-अलग स्थितियों के हिसाब से बैठने, लेटने या खड़े होने पर छाती के निचले हिस्से में दर्द हो सकता है


3) सीने के बीच में दर्द का एक कारण हो सकता है दिल का दौरा या हार्ट अटैक

कई बार पुरुषों और महिलाओं में अटैक के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं परन्तु यदि आपकी छाती के बीच में दर्द है तो यह दोनों में ही सामान्य लक्षण हो सकता है महिलाओं में यह दर्द कभी-कभी धीमा या तेज भी हो सकता है

एनजाइना वो स्थिति होती है जब ह्रदय में रक्त की आपूर्ति में रुकावट आ जाती है तथा हार्ट अटैक में ह्रदय के किसी हिस्से में खून की आपूर्ति अचानक रुक जाती है

एनजाइना के कारण छाती के बीच में दर्द होना शारीरिक गतिविधियों या मानसिक तनाव के कारण शुरू होता है जो कि थोड़ी ही देर में ठीक हो जाता है परन्तु हार्ट अटैक का दर्द काफी समय तक रहता है तथा इससे व्यक्ति की मृत्यु भी हो सकती है


4) फेफड़े की समस्याएँ भी बन सकती हैं छाती के बीच में दर्द का एक कारण

फेफड़ों में सूजन और संक्रमण होना भी छाती के निचले हिस्से में दर्द का कारण हो सकता है  फेफड़ों से जुड़ी कुछ स्थितियां जैसे निमोनिया, दमा, फेफड़ों की धमनियों में खून का दबाव बढ़ जाना आदि भी छाती में दर्द का कारण हो सकता है

फेफड़ों की वजह से आपके छाती के निचले हिस्से में होने वाला दर्द कम भी हो सकता है और गंभीर भी हो सकता है इसलिए हमेशा अपने शरीर और शरीर के सभी हिस्सों जैसे फेफड़ों आदि का ख़ास ख्याल रखें


कैसे किया जाता है छाती के दर्द का परीक्षण ?

नीचे दिए टेस्ट्स करवा के आप छाती में होने वाले दर्द का कारण जान सकते हैं और यदि आपको पता होगा कि यह दर्द क्यों, किन कारणों या रोगों के कारण हो रहा है तो उसी अनुसार आप इसका इलाज़ अथवा उपचार भी करा सकते हैं तथा आसानी से छाती के दर्द से छुटकारा पा सकते हैं

  • ईसीजी- ECG
  • एक्स-रे- X-RAY
  • ब्लड टेस्ट- BLOOD TEST
  • एमआरआई- MRI

छाती में होने वाले दर्द का इलाज़ कैसे करें – Chati me hone wale dard ka ilaj kaise karen

छाती में होने वाले दर्द का इलाज उसके होने के कारणों और गंभीरता पर निर्भर करता है आपके डॉक्टर सर्जरी, दवा, गैर-सर्जिकल जैसी प्रक्रियाओं के साथ छाती के बीच में होने वाले दर्द का इलाज कर सकते हैं

  • ऐसी दवाईयां छाती के दर्द को कम कर सकती हैं जिनमें नाइट्रोग्लिसरीन तथा अन्य दवाएं शामिल हों, जो बंद धमनियों को खोलती हैं थक्के को हटाती हैं और रक्त को पतला करती हैं
  • छाती के दर्द को कम करने के लिए डॉक्टर धमनियों की सर्जिकल मरम्मत करते हैं जिसे कोरोनरी धमनी, बाईपास ग्राफ्टिंग या बाईपास सर्जरी कहा जाता है
  • डॉक्टर्स कुछ दवाओं जैसे एंटी-एंग्जायटी दवाएं जो पैनिक अटैक से संबंधित होती है, छाती में होने वाले दर्द का इलाज करने के लिए प्रयोग करने की सलाह देते हैं

छाती के बीच में दर्द होना तथा इससे संबंधित इलाज आदि के बारे में पढने के बाद अब हम देखेंगे कि छाती के बीच में दर्द होने पर क्या करें तथा कैसे इससे बचाव करें

 

छाती के बीच में दर्द होने पर क्‍या करें – Chati ke beech me dard hone par kya karen

छाती के दर्द को रोकने के लिए आप कई प्रकार के कदम उठा सकते हैं इसमें ह्रदय सम्बन्धी छाती के बीच में होने वाले दर्द और गैर ह्रदय सम्बन्धी छाती के दर्द के प्रकार को शामिल किया गया है

  • जो लोग अधिक धूम्रपान करते हैं उन्हें छाती के दर्द की समस्या अधिक होती है ऐसे में इस दर्द से बचाव के लिए उन व्यक्तियों को धूम्रपान छोड़ देना चाहिए जिससे कि वे एक स्वस्थ और रोग मुक्त जीवन जी सकें
  • छाती के बीच में दर्द होने पर अपने सीने की सिंकाई करें इससे आपको दर्द से काफी आराम मिलेगा
  • छाती में दर्द होने पर बादाम का दूध आपके स्वास्थ्य के लिए हेल्दी हो सकता है इससे छाती के दर्द को कम किया जा सकता है
  • छाती के बीच में दर्द होने पर गर्म पानी पिएं ऐसा करने पर भी आपको दर्द से कुछ राहत मिलेगी
  • यदि आपको छाती में जलन, दर्द और भारीपन महसूस हो रहा हो, तो इसके लिए आप लहसुन का सेवन कर सकते हैं इसके सेवन के लिए लहसुन का रस निकालें फिर इसे एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर पियें, लहसुन की दो कच्ची कली खाने से भी छाती की जलन और पेट से संबंधित बहुत सी समस्याएं दूर हो सकती है

ऊपर आपने पढ़ा कि छाती के बीच में दर्द क्यों होता है? तथा उनके सभी कारणों और इलाज के बारे में हमने सारी जानकारियां इकठ्ठा की जो कि भविष्य में या फिर कभी भी हमारे काम आ सकती हैं क्योंकि बीमारियाँ कभी भी पूछ कर नहीं आती हैं इसलिए अपने भोजन में संतुलित आहार का  प्रयोग करें, प्रतिदिन व्यायाम करें तथा स्वस्थ रहें


FAQ’s – छाती के बीच में दर्द होना

सवाल : छाती के बीच में दर्द क्यों होता है?

छाती में दर्द चिंता और पैनिक अटैक तथा एसिडिटी के कारण होता है

सवाल : छाती में इन्फेक्शन होने से क्या होता है?

छाती में इन्फेक्शन होने से सांस फूलती है, न थमने वाली तथा काफी देर चलने वाली खांसी आती है जिससे व्यक्ति बेहाल हो जाता है

सवाल : छाती के बीच में दर्द हो तो क्या करना चाहिए?

छाती के बीच में दर्द हो तो गर्म हल्दी के दूध का सेवन करना फायदेमंद होता है

सवाल : सीने या छाती में दर्द होने पर हॉस्पिटल कब जाना चाहिए?

यदि आपको लगता है कि आपकी समस्या कुछ गंभीर है तथा दर्द भी असहनीय है तो तुरंत किसी नजदीकी अस्पताल में जाएँ

सवाल : छाती के दर्द का एक लक्षण बताइए?

बेचैनी जैसा महसूस होना, खांसी होने या गहरी सांस लेने पर पर दर्द का बढ़ जाना आदि छाती में होने वाले दर्द के ही लक्षण हैं


Conclusion

आज के हमारे इस आर्टिकल में हमने क्या-क्या पढ़ा, तो हमने छाती के बीच में दर्द होना पढ़ा, तथा छाती के बीच में होने वाले दर्द के लक्षण, उसके कारण, उसके इलाज तथा छाती के दर्द से कैसे कर सकते हैं बचाव इन सबके बारे में हमने पूरे विस्तार से सारी जानकारी प्राप्त की है

तो यदि हम आपसे पूछे कि क्या होता है सीने में दर्द होना तो अगर आपने हमारा पूरा आर्टिकल ध्यान से पढ़ा है तो आपको सीने में दर्द के बारे में सारी आवश्यक बातें पता चल गयी होंगी तथा आप दूसरों को भी इसके बारे में बता सकते हैं

आज के आर्टिकल में बस इतना ही, हम आशा करते हैं कि आपको हमारे द्वारा दी जाने वाली समस्त जानकारियां पसंद आई होंगी

error: Content is protected !!